• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Cloudburst Hits J&K: जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने से 7 की मौत, 30 से अधिक लापता; कई पुल बहे

Cloudburst Hits J&K: जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने से 7 की मौत, 30 से अधिक लापता; कई पुल बहे

Kishtwar में बादल फटने के बाद बढ़ा नदी का जलस्तर (ani)

Kishtwar में बादल फटने के बाद बढ़ा नदी का जलस्तर (ani)

Cloudburst in Jammu and Kashmir:: किश्तवाड़ जिले के होनजर इलाके में यह हादसा हुआ. बुधवार सुबह लगभग 4:20 के करीब बादल फटने से पांच घर उसकी चपेट में आ गए.

  • Share this:
    श्रीनगर. जम्मू और कश्मीर स्थित  किश्तवाड़ जिले के डच्चन प्रखंड के होनजर गांव में बुधवार को तड़के बादल फटने से आई बाढ़ में कई घरों के बह जाने से सात लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. वहीं 30 से अधिक लोग लापता हैं. होन्जर में एसएचओ के नेतृत्व में पुलिस दल ने बारह घायलों को बचाया. बुधवार सुबह लगभग 4:20 के करीब बादल फटने से कुछ घर उसकी चपेट में आ गए. बादल फटने के बाद कई लोग लापता हैं. राहत और बचाव कार्य के लिए सेना पुलिस और प्रशासन की टीमें मौके पर पहुंची हैं और रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. मिली जानकारी के अनुसार यह हादसा डच्चन के ऐसे इलाके में हुई है जहां पर सड़क नहीं है.  इस हादसे में घरों समेत 1 राशन डिपो को नुकसान पहुंचा है. वहीं 30 लोग लापता हैं. दूसरी ओर  अब तक 7 शव बरामद किए गए हैं.

    वहीं बादल फटने से किश्तवाड़ के आसपास के इलाकों में चार पुल बह गए हैं.हादसे में अब तक जिन लोगों के शव बरामद हुए हैं उनकी पहचान- सज्जा बेगम (65 वर्ष), रकिता बेगम (24 वर्ष), एक खानाबदोश, गुलाम नबी तांत्रे (42 वर्ष) और अब्दुल मजीद (42 वर्ष), शामिल हैं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने CNN-News18 को बताया, 'बादल फटने से पांच से छह घरों वाला एक क्षेत्र पूरी तरह से बह गया है, जिसमें 30 से 40 लोग बह गए थे, अब तक हमने सात शव बरामद किए हैं, जबकि 30 से अधिक लोग लापता हैं.'

    स्थानीय पुलिस और मौसम विभाग ने की अपील
    स्थानीय पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि किश्तवाड़ में भारी बारिश को देखते हुए किसी भी आपात स्थिति में लोग  एसएसपी किश्तवाड़ 9419119202, Adl.SP किश्तवाड़9 469181254, डिप्टी.एसपी मुख्यालय 9622640198एसडीपीओ एथोली9858512348 से संपर्क कर सकते हैं.



    मौसम विभाग के अनुसार फिलहाल जम्मू-कश्मीर के अधिकांश स्थानों पर बादल छाए हुए हैं और पुंछ, राजौरी, रियासी और पड़ोस के कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश हुई है.  30 जुलाई तक रुक-रुक कर बारिश जारी रहने की संभावना है. कहीं-कहीं भारी से बहुत बारिश की आशंका है. इसकी वजह से अचानक बाढ़ आ सकती है. इसके साथ ही  भूस्खलन और निचले क्षेत्र में जल भरावल की आशंका है. मौसम विभाग ने सभी को सतर्क रहने की सलाह दी है.

    गृहमंत्री, एलजी ने दिए निर्देश
    वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा है- 'किश्तवाड़ में बादल फटने के संबंध में मैंने जम्मू-कश्मीर के LG और DGP से बात की है. SDRF, सेना और स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगा हुआ है, NDRF भी वहाँ पहुँच रही है. अधिक से अधिक लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है. शोकाकुल परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं.'

    इसके साथ ही एलजी मनोज सिन्हा ने कहा 'वरिष्ठ अधिकारियों और किश्तवाड़ जिला प्रशासन से बात की. लोगों को बचाने और लापता लोगों का पता लगाने के लिए सेना और एसडीआरएफ की टीम युद्धस्तर पर काम कर रही है. मैं स्थिति पर लगातार नजर रख रहा हूं.'



    उधर किश्तवाड़ के उपायुक्त ने कहा कि घायलों को एयरलिफ्ट करने के लिए भारतीय वायु सेना के अधिकारियों से संपर्क किया गया है. इसके साथ ङी SDRF कमांडेंट जनरल वीके सिंह ने कहा कि पुलिस के साथ एसडीआरएफ की टीम पैदल ही मौके के लिए रवाना हो गई है.यह क्षेत्र किश्तवाड़ के ऊपरी इलाकों में है, जहां सड़क मार्ग से पहुंचा नहीं जा सकता है. जम्मू एसडीआरएफ स्टैंडबाय पर है. मौसम खराब है.श्रीनगर से एसडीआरएफ की एक टीम एयरलिफ्ट होने को तैयार है. केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने ट्वीट किया, '30 से 40 लोग लापता हैं. एसडीआरएफ और सेना की मदद से बचाव अभियान जारी है.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन