बस कंडक्‍टर, मार्शल और सफाई कर्मचारी समेत ये आम आदमी बने केजरीवाल के शपथग्रहण समारोह के खास मेहमान

बस कंडक्‍टर, मार्शल और सफाई कर्मचारी समेत ये आम आदमी बने केजरीवाल के शपथग्रहण समारोह के खास मेहमान
सीएम पद की शपथ लेते सीएम अरविंद केजरीवाल.

आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल की ओर से 50 आम लोगों शपथग्रहण समारोह में शामिल होने का खास न्‍योता (Invitation) भेजा गया. इनमें स्‍कूल टीचर्स से लेकर प्रिंसिपल तक, स्‍टूडेंट्स से लेकर सफाई कर्मचारी और बस मार्शल तक शामिल थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 16, 2020, 12:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दिल्‍ली के रामलीला मैदान (Ramleela Maidan) में अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने केंद्रशासित प्रदेश के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ उनकी मंत्रिपरिषद के सदस्‍यों ने भी पद व गोपनीयता की शपथ (Oath Ceremony) ली. आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल की ओर से 50 आम लोगों को शपथग्रहण समारोह में शामिल होने का खास न्‍योता (Invitation) भेजा गया था. इनमें स्‍कूल टीचर्स से लेकर प्रिंसिपल तक, स्‍टूडेंट्स से लेकर सफाई कर्मचारी और बस मार्शल तक शामिल थे. दिल्‍ली में 9 साल से सफाई कर्मचारी (Safai Karamchari) के तौर पर काम करने वाली लाजवंती को भी केजरीवाल का आमंत्रण मिला था.

'सीएम केजरीवाल को दिल्‍ली के गरीबों से है बहुत लगाव'
लाजवंती का जन्‍म दिल्‍ली में ही हुआ था. उन्‍हें दिल्‍ली और अपने काम से बहुत लगाव है. वह अपने काम को ईश्‍वर का तोहफा मानती हैं. उनका कहना है कि मुझे अपने काम की वजह से शहर को साफ रखने का मौका मिला. उनके तीन बच्‍चे हैं. वह हमेशा यही सोचती थीं कि अपने काम के बारे में अपने बच्‍चों को नहीं बताएंगी. लेकिन, जब उनका बेटा स्‍कूल गया तो उन्‍होंने उसे अपने काम के बारे में बताया. इस पर उनके बेटे ने कहा कि उसे अपनी मां पर गर्व है. वह कहती हैं, 'मुझे महसूस होता है कि दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और दिल्‍ली सरकार को गरीबों से बहुत लगाव है. हमारे पूरे परिवार को उन पर गर्व है. हम शपथग्रहण समारोह को लेकर काफी उत्‍साहित हैं. ये हमारे लिए सम्‍मान की बात है कि हमें कार्यक्रम में बुलाया गया है.'

अरविंद केजरीवाल दिल्‍ली विधानसभा की 70 में 62 सीटें जीतकर तीसरी बार मुख्‍यमंत्री बने हैं.

'महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़ी मेहनत कर रहे सीएम'


बस मार्शल (Bus Marshal) गीता देवी को भी शपथग्रहण समारोह में शिरकत करने के लिए न्‍योता मिला. गीता पुलिस अधिकारी बनना चाहती थीं. वह पुलिस अधिकारी नहीं बन पाईं, लेकिन जब उन्‍हें बस मार्शल के काम के बारे में पता चला तो उन्‍होंने आवेदन किया. गीता देवी ने 23 अक्‍टूबर 2019 को एक जेबकतरे को बस में धर दबोचा था और उसे पुलिस के हवाले कर दिया था. उस जेबकतरे ने बस में एक यात्री का मोबाइल चुरा लिया था. गीता ये सब देख रही थीं. वह उस व्‍यक्ति से उलझ गईं और उसे पकड़ लिया. इसके बाद उसे दरियागंज पुलिस के हवाले कर दिया. वह कहती हैं कि मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्‍ली में महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. मैं अपने परिवार के साथ कार्यक्रम में पहुंची हूं.

'न्‍योता मिलने से महसूस कर रहा हूं काफी सम्‍मानित'
सुंदर लाल सात साल से दिल्‍ली में बस कंडक्‍टर (Bus Conductor) का काम कर रहे हैं. वह बिहार के रहने वाले हैं और अपने परिवार के साथ दिल्‍ली में रहते हैं. उनके दो बच्‍चे दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूल में पढ़ रहे हैं. वह कहते हैं कि पिछले कुछ सालों के दौरान दिल्‍ली में बस ट्रांसपोर्ट सिस्‍टम बदल गया है. आम आदमी पार्टी के सत्‍ता में आने के बाद बस कंडक्‍टरों के सामाजिक व आर्थिक स्‍तर में बदलाव आया है. उन्‍हें उम्‍मीद है कि एक दिन वह बस पायलट बनेंगे. उन्‍होंने कहा कि मैं निमंत्रण मिलने से सम्‍मानित महसूस कर रहा हूं. मुझे लगता है कि दिल्‍ली सरकार शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और ट्रांसपोर्ट को गरीबों के लिए सुलभ बनाने के लिए पूरी मेहनत कर रहे हैं.

बस मार्शल गीता देवी को भी शपथग्रहण समारोह में शिरकत करने के लिए न्‍योता मिला.


'न्‍योता मिलने पर लगा, कोई मजाक कर रहा है'
उत्‍तर प्रदेश के गजराज सिंह 20 साल से दिल्‍ली में बस कंडक्‍टर का काम कर रहे हैं. उनका मानना है कि समाज में हर काम अपनी अलग अहमियत रखता है. उनके तीन बच्‍चे हैं. वह दिल्‍ली के उन कंडक्‍टरों में हैं, जिन्‍हें बस चलाना भी आता है. उन्‍होंने एक रात बस का एक्‍सीडेंट रोकने के लिए ड्राइवर की काफी मदद की थी. वह कहते हैं कि उन्‍हें वो रात हमेशा याद रहेगी. उन्‍होंने कहा कि जब मुझे न्‍योता मिला तो लगा, कोई मेरे साथ मजाक कर रहा है. मुझे लगा कि मुझे न्‍योता क्‍यों भेजा जाएगा. मैं आमंत्रण मिलने से काफी खुश हूं. केजरीवान ने जो कहा, वो कर के दिखाया है. हमें उन पर गर्व है.

ये भी पढ़ें:

जामिया हिंसा: लाइब्रेरी में छात्रों पर डंडे बरसाती दिखी पुलिस, वीडियो वायरल

डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से पहले बड़ा बदलाव, 'केम छो' नहीं 'नमस्ते बोलेगा इंडिया'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज