NRC में प्रकाशित नामों का चाहते हैं सत्यापन, कोविड का जमकर करेंगे मुकाबला- सीएम हिमंत बिस्व सरमा

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व (Himant Biswa Sarma) सरमा ने शपथ लेने के बाद कहा कि उनका लक्ष्य है कि राज्य अगले पांच वर्षों में देश के शीर्ष पांच राज्यों में से एक हो.

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व (Himant Biswa Sarma) सरमा ने शपथ लेने के बाद कहा कि उनका लक्ष्य है कि राज्य अगले पांच वर्षों में देश के शीर्ष पांच राज्यों में से एक हो.

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व (Himant Biswa Sarma) सरमा ने शपथ लेने के बाद कहा कि उनका लक्ष्य है कि राज्य अगले पांच वर्षों में देश के शीर्ष पांच राज्यों में से एक हो.

  • Share this:

दिसपुर. असम (Assam) के 15वें मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा (Himant Biswa Sarma) ने सोमवार को शपथ लेने के बाद कहा कि उनका लक्ष्य है कि राज्य अगले पांच वर्षों में देश के शीर्ष पांच राज्यों में से एक हो. भाजपा नेता और पूर्वोत्तर प्रजातांत्रिक गठबंधन के संयोजक सरमा ने असम के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में सोमवार को शपथ ली. राज्यपाल जगदीश मुखी ने उन्हें यहां श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

नए मुख्यमंत्री ने पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा कि असम को पांच वर्षों में शीर्ष पांच भारतीय राज्यों में से एक बनाने का लक्ष्य है. सीएम ने कहा कि उल्फा (आई) के प्रमुख परेश बरुआ से अपील है कि वह हिंसा छोड़ें और बातचीत की मेज़ पर आएं. उन्होंने कहा कि हम सीमांत जिलों में एनआरसी में शामिल 20 फीसदी नामों और अन्य इलाकों में 10 प्रतिशत नामों का पुन: सत्यापन चाहते हैं.

सरमा ने कहा कि असम में COVID की स्थिति चिंताजनक है. हम देख रहे हैं कि हमारे रोजाना मामले लगभग 5,000 पार कर चुके हैं. कल जब हम कैबिनेट में पहली बार मिलेंगे तो हम सभी दृष्टिकोण से कोरोना की स्थिति पर चर्चा करेंगे. इसके प्रकोप को रोकने के लिए आवश्यक सभी उपाय करेंगे.

Youtube Video

पूर्वोत्तर के प्रति निभानी होगी जिम्मेदारी- सीएम

उन्होंने कहा कि जब तक असम में COVID की स्थिति नियंत्रित नहीं होगी, तब तक पूर्वोत्तर की स्थिति कभी भी नियंत्रण में नहीं आएगी. हम अपने नागरिकों और पूरे पूर्वोत्तर के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे.

बता दें भाजपा नीत गठबंधन राज्य में पहली गैर कांग्रेसी सरकार है जिसने लगातार दूसरी बार चुनाव जीता है. असम की 126 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ गठबंधन को 75 सीटें मिली हैं. भाजपा को 60 सीटें मिली हैं जबकि उसके गठबंधन साझेदार असम गण परिषद (एजीपी) व यूनाइटेड पीपल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) को क्रमश: नौ और छह सीटें मिली हैं.




सोमवार को शपथ लेने वाले विधायकों में से 10 भाजपा के हैं जिनमें पार्टी के प्रदेश प्रमुख रंजीत कुमार दास, पिछली सरकार के मंत्री चंद्र मोहन पटोवारी, परिमल सुक्लाबैद्य, जोगेश मोहन और संजय किशन शामिल हैं. मंत्रिमंडल में शामिल किए गए नए चेहरों में रनोज पेगू, बिमल बोहरा और एकमात्र महिला अंजता नेओग शामिल हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज