होम /न्यूज /राष्ट्र /असम हिंसाः सीएम बिस्वा बोले- राज्य सरकार के पास है खुफिया रिपोर्ट, जल्द होगी कार्रवाई

असम हिंसाः सीएम बिस्वा बोले- राज्य सरकार के पास है खुफिया रिपोर्ट, जल्द होगी कार्रवाई

सीएम ने कहा कि आप एक वीडियो से राज्य सरकार को नीचा नहीं दिखा सकते हैं.

सीएम ने कहा कि आप एक वीडियो से राज्य सरकार को नीचा नहीं दिखा सकते हैं.

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि राज्य सरकार के पास एक खुफिया रिपोर्ट है कि कुछ लोगों ने पिछले 3 महीनों के दौरान ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    गुवाहाट. असम में पिछले दिनों हुई हिंसा पर राज्य सरकार एक्शन के मूड में नजर आ रही है. मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि राज्य सरकार के पास एक खुफिया रिपोर्ट है कि कुछ लोगों ने पिछले 3 महीनों के दौरान 28 लाख रुपये एकत्र किए, यह कहते हुए कि कोई बेदखली नहीं होगी. जब वे बेदखली का विरोध नहीं कर सके, तो उन्होंने जनता को लामबंद किया और उस दिन कहर ढाया. उन्होंने कहा कि हमारे पास 6 लोगों के नाम हैं. घटना के दिन से पहले, पीएफआई ने बेदखल परिवारों को खाद्य सामग्री ले जाने के नाम पर साइट का दौरा किया. कई सबूत अब सामने आ रहे हैं, जिसमें एक व्याख्याता सहित कुछ लोग शामिल हैं.

    बता दें कि असम के दरांग जिले के ढोलपुर में गुरुवार को पुलिस टीम सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटवाने गई. जिस पर स्थानीय लोग हिंसक हो गए. इसके बाद पुलिस को भी गोली चलानी पड़ी, जिसमें दो लोगों की मौत हुई, जबकि 20 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. घटना के बाद से राज्य सरकार की कार्रवाई पर विपक्ष सवाल उठा रहा था, ऐसे में अब मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने भी पलटवार किया है. वहीं दूसरी ओर इलाके में अभी भी हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं, जिस वजह से वहां पर भारी संख्या में जवानों को तैनात किया है.

    हत्याओं के लिए जाना जाता है ये इलाका
    इससे पहले सीएम ने कहा था कि आप एक वीडियो से राज्य सरकार को नीचा नहीं दिखा सकते हैं. 1983 से वो इलाका हत्याओं के लिए जाना जाता है, नहीं तो आम तौर पर लोग मंदिर की जमीन पर कब्जा नहीं करते. मैंने चारों तरफ अतिक्रमण देखा है.

    शांतिपूर्ण निष्कासन अभियान पर सहमति बनी, लेकिन किसने उकसाया? उन्होंने आगे कहा कि ये बेदखली अभियान बहुत ज्यादा जरूरी है. ये रातों-रात नहीं हुआ, 4 महीने से चर्चा चल रही थी.

    Tags: Assam CM, Assam news, Assam Police

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें