अपना शहर चुनें

States

पीएम मोदी से मिलने के लिए ममता ने मांगा वक्त, बीजेपी ने उड़ाया मजाक

एक अधिकारी ने बताया, 'बैठक के लिए पीएम मोदी (Pm Narendra Modi) के कार्यालय से पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री(Mamata Banerjee) कार्यालय ने समय मांगा था.'
एक अधिकारी ने बताया, 'बैठक के लिए पीएम मोदी (Pm Narendra Modi) के कार्यालय से पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री(Mamata Banerjee) कार्यालय ने समय मांगा था.'

एक अधिकारी ने बताया, 'बैठक के लिए पीएम मोदी (Pm Narendra Modi) के कार्यालय से पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) कार्यालय ने समय मांगा था.'

  • भाषा
  • Last Updated: September 16, 2019, 7:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से मुलाकात करने की संभावना है. राज्य सचिवालय के सूत्रों ने सोमवार को इसकी पुष्टि की. सूत्रों ने बताया कि बनर्जी मंगलवार को नयी दिल्ली (New Delhi) के लिए रवाना होंगी.

उन्होंने बताया कि बैठक में दोनों नेताओं के पश्चिम बंगाल के प्रशासनिक मुद्दों के बारे में चर्चा करने की उम्मीद है. बनर्जी भाजपा (bjp) और मोदी की मुखर आलोचक हैं.

एक अधिकारी ने बताया, 'बैठक के लिए मोदी के कार्यालय से पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री कार्यालय ने समय मांगा था. बुधवार को नयी दिल्ली में बैठक होगी.'



महत्वपूर्ण मानी जा रही है संभावित बैठक
प्रस्तावित बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि यह ऐसे समय में हो रही है जब सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कई नेता और कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) के पूर्व आयुक्त राजीव कुमार (Rajeev Kumar) शारदा पोंजी घोटाला (Sharda Ponji Scam) मामले में सीबीआई ( CBI) जांच के घेरे में हैं.

शारदा समूह की कंपनियों ने लाखों लोगों को उनके निवेश पर ज्यादा लाभ का वादा करते हुए 2500 करोड़ रुपये की जालसाजी की.

बीजेपी ने उड़ाया मजाक

वहीं बीजेपी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से दिल्ली में मिलने का समय मांगने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का सोमवार को मजाक उड़ाते हुए इसे 'मौकापरस्ती की राजनीति का बेहतरीन उदाहरण' और 'खुद को सीबीआई के शिकंजे से बचाने का हताशा भरा प्रयास करार दिया.'

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा, 'हम सभी जानते हैं कि उन्होंने (बनर्जी) ने लोकसभा चुनाव के दौरान और उसके बाद प्रधानमंत्री के खिलाफ किस प्रकार की भाषा का इस्तेमाल किया था. उनके मन में संघीय ढांचे के प्रति कोई सम्मान नहीं है. यहां तक कि उन्होंने एक बार कहा था कि वह प्रधानमंत्री के रूप में मोदीजी का सम्मान करने की जरूरत महसूस नहीं करतीं.'

उन्होंने कहा, 'अब अचानक वह दिल्ली क्यों और किस लिये दिल्ली जा रही हैं, यह एक खुला रहस्य है. बनर्जी खुद को और अपनी पार्टी के नेताओं को सीबीआई के शिकंजे से बचाने के लिये दिल्ली जा रही हैं जो बंगाल में करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटाले की जांच कर रही है.'

TMC ने दिया जवाब

वहीं तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'बंगाल बीजेपी को निराधार दावे करना बंद करना चाहिये. संघीय ढांचे में एक राज्य के मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री से मिलने का पूरा अधिकार है. प्रस्तावित बैठक राज्य के विकास से जुड़े मुद्दों को लेकर होनी है.'

मोदी और ममता आखिरी बार 25 मई 2018 को शांति निकेतन में विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में मिले थे.

यह भी पढ़ें: इस कारण PM मोदी के जन्‍मदिन को 'सेवा सप्‍ताह' के रूप में मना रही है BJP
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज