Home /News /nation /

cm naveen patnaik deeply concerned for 4 odisha people onboard in nepal crashed flight

नेपाल विमान दुर्घटना में ओडिशा के 4 व्यक्ति भी, CM नवीन पटनायक चिंतित, 16 शव निकाले गए

Nepal plane crash: नेपाल के लापता विमान को कोवां से खोज लिया गया है. लेकिन मौसम खराबी की वजह से अब तक वहां पहुंचा नहीं जा सका. इस बीच ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने यह बताया है कि इस विमान हादसे में ओडिशा के भी चार लोग हैं. पटनायक ने इनकी सलामती के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है.

Nepal plane crash: नेपाल के लापता विमान को कोवां से खोज लिया गया है. लेकिन मौसम खराबी की वजह से अब तक वहां पहुंचा नहीं जा सका. इस बीच ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने यह बताया है कि इस विमान हादसे में ओडिशा के भी चार लोग हैं. पटनायक ने इनकी सलामती के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है.

Nepal plane crash: नेपाल के लापता विमान को कोवां से खोज लिया गया है. लेकिन मौसम खराबी की वजह से अब तक वहां पहुंचा नहीं जा सका. इस बीच ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने यह बताया है कि इस विमान हादसे में ओडिशा के भी चार लोग हैं. पटनायक ने इनकी सलामती के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. नेपाल में दुर्घटनाग्रस्त तारा एयरलाइंस के विमान में ओडिशा के चार लोग भी शामिल हैं. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है. उन्होंने ट्वीट किया, यह जानकर गहरा दुख हुआ कि तारा एयरलाइंस की दुर्भाग्यपूर्ण उड़ान में ओडिशा के चार व्यक्ति सवार थे. यात्रियों की सलामती के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते हैं. नेपाल के मस्तंग जिले में बचे लोगों का पता लगाने के लिए तलाशी अभियान जारी है. हालांकि अब तक 16 विमान से 16 शवों को निकाला जा चुका है.

गौरतलब है कि कल नेपाल के एक यात्री विमान पर्यटक स्थल से पोखरा से जामशान जा रहा था लेकिन 15 मिनट बाद ही विमान का संपर्क कंट्रोल रूम से टूट गया. इसके बाद कैप्टन के फोन के लोकेशन से विमान का पता लगाया गया. यह मस्तंग जिले के जंगल में गिरा हुआ है जहां आबादी नहीं है. मौसम की खराबी की वजह से विमान तक पहुंचा नहीं जा सका है.

अधिकारियों ने बताया कि नेपाल के पर्वतीय मुस्तांग जिले में दुर्घटनाग्रस्त हुए, विमानन कंपनी ‘तारा एअर’ के विमान के मलबे से अभी तक 16 शव निकाले जा चुके हैं. ‘तारा एअर’ का ‘ट्विन ओट्टर 9एन-एईटी’ विमान रविवार की सुबह पोखरा से उड़ान भरने के कुछ समय बाद नेपाल के पहाड़ी इलाके में लापता हो गया था. कनाडा निर्मित विमान में चार भारतीय, दो जर्मन और 13 नेपाली नागरिकों सहित कुल 22 लोग सवार थे. यह विमान पोखरा से मध्य नेपाल स्थित मशहूर पर्यटक शहर जोमसोम की ओर जा रहा था.

विमान में सभी लोग मृत
बयान के अनुसार, दुर्घटनास्थल से मिली जानकारी के मुताबिक 16 शव निकाले गए हैं और उनकी पहचान अभी नहीं हो पाई है. सीएएएन ने बताया कि मुस्तांग जिले के थसांग-2 में 14,500 फुट की ऊंचाई पर विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था. ‘माय रिपब्लिक’ समाचार पत्र की खबर के अनुसार, अवरुद्ध मार्ग को साफ करने के लिए इलाके में पहुंचे इंदा सिंह ने पाया कि विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है.उन्होंने कहा कि विमान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था. समाचार पत्र ने सिंह के हवाले से कहा, विमान में सवार सभी लोग मृत मिले हैं. शव शिनाख्त करने की स्थिति में हैं.

चट्टान से टकराया था विमान
सिंह ने बताया कि शव एक नजदीकी खड्ड में हैं, इसलिए उन्हें निकालने में परेशानी हो रही है. उन्होंने बताया कि विमान में आग नहीं लगी थी. विमान संभवत: एक चट्टान से टकराने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हुआ. सीएएएन के अनुसार, दुर्घटनास्थल पर नेपाल सेना, एयर डायनेस्टी, कैलाश हेलीकॉप्टर, फिशटेल एयर हेलीकॉप्टर के खोज एवं बचाव दल और अन्य बचाव कर्मियों को तैनात किए गए हैं. फिशटेल एयर का 9एन-एजेआर हेलीकॉप्टर दुर्घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचा और सोमवार को सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर उसने विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की पुष्टि की.

विमान में चार महाराष्ट्र के
विमानन कंपनी की ओर से जारी यात्रियों की सूची के अनुसार, विमान में मौजूद भारतीयों की पहचान अशोक कुमार त्रिपाठी, उनकी पत्नी वैभवी बांडेकर त्रिपाठी और बच्चों-धनुष त्रिपाठी व ऋतिका त्रिपाठी के तौर पर हुई है. यह परिवार महाराष्ट्र के ठाणे जिले का रहने वाला है. नेपाल की सेना ने सोमवार को बताया कि लापता होने के करीब 20 घंटे बाद विमान का मलबा मिला. इससे पहले, सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर नारायण सिल्वाल ने ट्वीट किया, सैनिकों और बचावकर्मियों ने दुर्घटनास्थल का पता लगा लिया है। इससे जुड़ी विस्तृत जानकारी जल्द साझा की जाएगी. उन्होंने एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, ‘‘दुर्घटनास्थल मुस्तांग जिले के थसांग-2 के सनोसवेयर में है. सिल्वाल ने बताया कि पुलिस निरीक्षक लेफ्टिनेंट मंगल श्रेष्ठ और एक गाइड दुर्घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं.

100 मीटर के दायरे में शव बिखरे पड़े हैं
उन्होंने कहा, विभिन्न एजेंसियों के अन्य बचाव दल छोटे हेलीकॉप्टर के जरिये दुर्घटनास्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. वहां पहुंचने के लिए हर संभव साधन के इस्तेमाल पर विचार किया जा रहा है. नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के अनुसार, ‘तारा एअर’ के विमान ने पोखरा से रविवार सुबह नौ बजकर 55 मिनट पर उड़ान भरी थी, लेकिन करीब 12 मिनट बाद सुबह 10 बजकर सात मिनट पर उसका नियंत्रण टॉवर से संपर्क टूट गया. ‘तारा एअर’ के प्रवक्ता सुदर्शन बर्तौला ने बताया कि 16 शव बरामद हुए हैं. उन्होंने समाचार पत्र से कहा,  शव मुख्य दुर्घटनास्थल से 100 मीटर के दायरे में बिखरे हैं. खोज एवं बचाव दल उन्हें निकाल रहे हैं. बर्तोला ने बताया कि कि विमान पहाड़ से टकराने के कारण टूट कर बिखर गया था. उन्होंने कहा, ‘‘ टक्कर इतनी भीषण थी कि शव इधर-उधर बिखर गए. सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर में केवल विमान का पीछे का हिस्सा और एक पर नजर आ रहा है.

गौरतलब है कि 2016 में ‘तारा एयर’ का एक अन्य विमान उड़ान भरने के बाद इसी मार्ग पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. हादसे में विमान में सवार सभी 23 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं, मार्च 2018 में यूएस-बांग्ला एअर का विमान त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिससे उसमें सवार 51 लोगों की जान चली गई थी.

Tags: Nepal

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर