Assembly Banner 2021

CM ठाकरे का PM मोदी को पत्र- 25 साल से ऊपर के लोगों को टीका लगाने मांग की

उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है. (Photo- ANI)

उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है. (Photo- ANI)

Maharashtra Coronavirus Cases: मुख्यमंत्री ने कोविड-19 टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) के लिए योग्य 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों को अनुमति देने के उनके प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद भी दिया है

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को पत्र लिखकर 25 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) की अनुमति देने का अनुरोध किया है. मुख्यमंत्री ने कोविड-19 टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) के लिए योग्य 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों को अनुमति देने के उनके प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद भी दिया है. महाराष्ट्र सीएमओ ने इसकी जानकारी दी है.

बता दें प्रधानमंत्री मोदी गुरूवार को मुख्यमंत्रियों के साथ देश में कोरोना वायरस की बिगड़ती स्थिति और कोरोना टीकाकरण को लेकर बैठक करने वाले हैं. आठ अप्रैल को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाली इस बैठक में पीएम मोदी सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों और इसके खिलाफ जारी टीकाकरण से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करेंगे.

ये भी पढ़ें- भारत में कोरोना के 81% नए मामले आठ राज्यों और UTs से, 12 राज्यों में एक भी मौत नहीं



इससे पहले महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने सप्ताहांत में शुक्रवार रात आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की है. साथ ही, सोमवार से 30 अप्रैल तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू करने की भी घोषणा की. इसके अलावा कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर निजी कार्यालय, थियेटर और सैलून आदि बंद रखने जैसी कड़ी पाबंदियां भी लागू रहेंगी.
Youtube Video


महाराष्ट्र में वीकेंड पर लॉकडाउन 
मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि सप्ताहांत में शुक्रवार रात आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक लॉकडाउन लागू रहेगा. इसके अलावा, सप्ताह के सभी दिनों में दिन के वक्त धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की जाएगी.

बयान के मुताबिक, आवश्यक सेवाओं से जुड़ी दुकानों, मेडिकल स्टोर एवं किराना दुकानों के अलावा सभी अन्य दुकानें, बाजार और शॉपिंग मॉल 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे. ये सभी नए प्रतिबंध सोमवार रात आठ बजे से प्रभावी होंगे.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हुई मंत्रिमंडल की विशेष बैठक के दौरान इन सभी प्रतिबंधों को लागू करने का निर्णय लिया गया.

महाराष्ट्र सरकार के आदेश के मुताबिक बैंकिंग, शेयर बाजार, बीमा, दवा, टेलीकम्युनिकेशन और मेडिक्लेम क्षेत्र को छोड़कर इन प्रतिबंधों के तहत सभी निजी कार्यालय बंद रहेंगे. निजी कार्यालयों के लिए ‘घर से काम’(वर्क फ्रॉम होम) लागू करना अनिवार्य है. हालांकि, स्थानीय आपदा प्रबंधन, बिजली विभाग और जलापूर्ति से जुड़े कार्यालयों को प्रतिबंधों से छूट रहेगी.

इसके मुताबिक, कोविड-19 प्रबंधन से जुड़े विभागों को छोड़कर बाकी सभी सरकारी दफ्तरों को क्षमता से 50 प्रतिशत से ही काम करने की इजाजत होगी. साथ ही आंगतुकों को सरकारी कार्यालयों में प्रवेश की इजाजत नहीं दी जाएगी. हालांकि, आवश्यक सेवाओं को रात्रिकालीन कर्फ्यू में छूट दी गई है.

बयान में कहा गया कि पार्क, बीच (समुद्र तट) एवं सभी सार्वजनिक स्थल रात आठ बजे से सुबह सात बजे तक बंद रहेंगे. अगर स्थानीय प्रशासन को लगता है कि दिन के समय में इन स्थानों पर भीड़ एकत्र हो रही है तो इन्हें बंद रखा जा सकता है.

इसके मुताबिक, सार्वजनिक एवं निजी परिवहन सेवाओं का संचालन जारी रहेगा. टैक्सी और आटोरिक्शा वाले अपनी क्षमता की 50 फीसदी सवारियां ही बैठा सकते हैं. बसों में सवारियों को खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी और मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

साथ ही बस चालक, कंडक्टर और अन्य कर्मचारियों के पास कोविड-19 की नेगेटिव जांच रिपोर्ट होनी चाहिए.

बयान के मुताबिक, थियेटर, सिनेमाघर, वीडियो पार्लर, मल्टीप्लेक्स, क्लब, स्वीमिंग पूल, खेल परिसर आदि मनोरंजन स्थल बंद रहेंगे. वहीं, धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे. हालांकि, वहां धार्मिक अनुष्ठान जारी रहेंगे. इसी तरह, बार, रेस्तरां, छोटी दुकानें केवल सामान पैक करा कर ले जाने के लिए और पार्सल के लिए खुली रहेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज