होम /न्यूज /राष्ट्र /

कोयला घोटाला मामलाः SC ने ईडी से पूछा सवाल-ममता बनर्जी के भतीजे से कोलकाता में क्यों नहीं कर सकती पूछताछ

कोयला घोटाला मामलाः SC ने ईडी से पूछा सवाल-ममता बनर्जी के भतीजे से कोलकाता में क्यों नहीं कर सकती पूछताछ

ईडी अभिषेक बनर्जी से दिल्ली में 8 घंटे कर चुकी है पूछताछ (फाइल फोटो)

ईडी अभिषेक बनर्जी से दिल्ली में 8 घंटे कर चुकी है पूछताछ (फाइल फोटो)

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 21 मार्च को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के महासचिव और सांसद अभिषेक बनर्जी को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया था, जिसमें उनसे आठ घंटे तक पूछताछ की गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा है कि ईडी अभिषेक बनर्जी से कोलकाता में ही पूछताछ कर सकती है. वहीं बनर्जी ने कोर्ट में कहा कि वो इसके लिए तैयार हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोयला घोटाला मामले में आज सुप्रीम कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से पूछा कि वह दिल्ली की जगह कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के महासचिव और सांसद अभिषेक बनर्जी से सवाल क्यों नहीं कर सकते हैं. न्यायालय ने कहा कि इस मामले में अभिषेक बनर्जी सिर्फ एक गवाह ही नजर आ रहे हैं, संभावित आरोपी नहीं. उच्चतम न्यायालय ने यह भी कहा कि वह पश्चिम बंगाल सरकार को कोलकाता में ईडी अधिकारियों को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश देगी.

    वहीं अभिषेक बनर्जी ने अदालत में कहा कि वह कोलकाता में ईडी द्वारा जांच के लिए तैयार हैं. दरअसल, ईडी ने पश्चिम बंगाल में कथित कोयला खनन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए बनर्जी और उनकी पत्नी रुजिरा को समन जारी किया था. दोनों के खिलाफ यह मामला साल 2021 में दर्ज किया गया था. इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने रुजिरा बनर्जी के खिलाफ 10 हजार रुपये का जमानती वारंट जारी किया था. साथ ही 20 अगस्त को कोर्ट में पेश होने का आदेश भी दिया गया है. प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जारी नोटिस का जवाब नहीं दिए जाने पर पटियाला हाउस कोर्ट ने वारंट जारी किया है. ईडी कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहा है.

    अभिषेक बनर्जी से हो चुकी है 8 घंटे पूछताछ
    गौरतलब है कि कोलकाता और झारखंड में 5500 करोड़ से ज्यादा के कोयला घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने 21 मार्च को अभिषेक बनर्जी से करीब आठ घंटे पूछताछ की थी. इसके बाद 22 मार्च को अभिषेक की पत्नी रुजिरा बनर्जी को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया था लेकिन वे नहीं आई थी.

    ‘बंद कोयला खदानों से की थी चोरी’
    बता दें कि सीबीआई ने 27 नवंबर, 2020 को ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड के कई अफसरों और अनूप मांझी उर्फ लाला सहित सीआईएसएफ और रेलवे के अज्ञात अफसरों के खिलाफ केस दर्ज किया था. इस मामले में यह बात सामने आई थी कि इन सभी लोगों ने मिलकर उन खदानों से बड़े पैमाने पर कोयला चोरी किया, जो लंबे समय से बंद पड़ी थीं. इस मामले का मुख्य आरोपी अनूप मांझी उर्फ लाला और अभिषेक बनर्जी का करीबी विनय मिश्रा है. विनय मिश्रा फरार चल रहा है और उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी है. यह भी आरोप है कि इस घोटाले में रुजिरा की कुछ कंपनियों में भी लेनदेन हुआ है. इन कंपनियों से अभिषेक भी पहले जुड़े थे.

    Tags: Abhishek Banerjee, Supreme Court, TMC, West bengal

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर