होम /न्यूज /राष्ट्र /

Coal Scam Case: टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी से फिर होगी पूछताछ, 29 मार्च को ईडी के समक्ष होंगे पेश

Coal Scam Case: टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी से फिर होगी पूछताछ, 29 मार्च को ईडी के समक्ष होंगे पेश

तृणमूल कांग्रेस के नेता और  सांसद अभिषेक बनर्जी. ( फाइल फोटो)

तृणमूल कांग्रेस के नेता और सांसद अभिषेक बनर्जी. ( फाइल फोटो)

Coal Scam Case: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गुरुवार को तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) को समन भेजा है. इसके अनुसार उन्‍हें 29 मार्च को अधिकारियों के समक्ष पेश होना पड़ेगा.

नई दिल्‍ली. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गुरुवार को तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) को समन भेजा है. इसके अनुसार उन्‍हें 29 मार्च को अधिकारियों के समक्ष पेश होना पड़ेगा. पश्चिम बंगाल में एक कथित कोयला घोटाले से संबंधित धन शोधन मामले में उनसे एक बार फिर पूछताछ होगी. अभिषेक, जो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे भी हैं, सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में अपने कार्यालय में केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश हुए थे. ईडी अधिकारियों ने उनसे करीब आठ घंटे तक पूछताछ की थी.

जानकारी में बताया गया है कि बनर्जी ने मध्य दिल्ली में जांच एजेंसी के नए कार्यालय में सुबह करीब 11 बजे प्रवेश किया था और रात आठ बजे से कुछ समय पहले वहां से निकल गए थे. अधिकारियों ने कहा था कि अभिषेक का बयान धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया गया था और जांचकर्ताओं द्वारा एकत्र किए गए कुछ ‘सबूत’  के साथ उनका सामना किया गया था. ईडी कार्यालय से बाहर निकलते समय, सांसद अभिषेक बनर्जी ने कहा कि वह ‘कानून का पालन करने वाले नागरिक हैं और इसलिए उन्होंने जांच में सहयोग किया है.’ इससे पहले अभिषेक की पत्नी और साली के रिश्ते कोल माफिया से होने के चलते घोटाले की खबरें सुर्खियां बनी थीं. सीबीआई ने उनसे पूछताछ भी की थी. हालांकि तृणमूल ने इसको बीजेपी का चुनाव से पहले सीबीआई के जरिए दबाव डालने की हरकत और दुरुपयोग बताया था.

बता दें कि कोयला घोटाला मामले में सीबीआई द्वारा सबसे पहले मामला दर्ज किया गया था, उसी मामले को बाद में टेकओवर करते हुए ईडी मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज करके तफ़्तीश कर रही है. इस कोयला घोटाले में मुख्य आरोपी अनूप मांझी उर्फ लाला है, जो मूल रूप से झारखंड और पश्चिम बंगाल का रहने वाला है. जांच एजेंसी द्वारा जब अनूप मांझी सहित दूसरे अन्य आरोपियों के खिलाफ जांच पड़ताल और छापेमारी की गई तब उसी दौरान कई महत्वपूर्ण दस्तावेज, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और करोड़ों रुपये के हवाला कारोबार (Hawala) से जुड़े इनपुट सहित एक महत्वपूर्ण डायरी जांचकर्ताओं के हाथ लगी, उसी डायरी में अभिषेक बनर्जी सहित कई अन्य बड़ी राजनीतिक हस्तियों, सरकारी अधिकारियों, कारोबारियों से काफी लेनदेन की जानकारियां लिखी हुई थी, उसी के आधार पर जांच एजेंसी ने कई आरोपियों की गिरफ्तारी की. और बाकी जानकारियों के लिए अभिषेक सहित अन्य आरोपियों से पूछताछ के लिए एजेंसी लगातार प्रयास कर रही है, जिससे सच्चाई की तह तक पहुंचा जा सके.

Tags: Abhishek Banerjee, Coal scam, ED, Trinamool congress

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर