Home /News /nation /

कोयंबटूर रेप मामले पर बोले वायुसेना प्रमुख- पीड़िता का दावा गलत, नहीं हुई टू फिंगर जांच

कोयंबटूर रेप मामले पर बोले वायुसेना प्रमुख- पीड़िता का दावा गलत, नहीं हुई टू फिंगर जांच

भारतीय वायुसेना प्रमुख ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कही ये बातें. (Pic- ANI)

भारतीय वायुसेना प्रमुख ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कही ये बातें. (Pic- ANI)

Indian Air force: पीड़िता की ओर से शिकायत दर्ज कराने के बाद 26 सितंबर को तमिलनाडु पुलिस की ऑल वीमेन टीम ने वायुसेना के अफसर को गिरफ्तार किया था.

    नई दिल्‍ली. कोयंबटूर (Coimbatore) में स्थित वायुसेना (IAF Training Academy) की ट्रेनिंग अकादमी में महिला अफसर के साथ कथित तौर पर हुई रेप (Rape) की घटना पर वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी (VR Chaudhari) ने मंगलवार को प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने पीड़िता के टू फिंगर टेस्ट के दावे को गलत बताते हुए कहा कि ऐसा कोई भी टेस्‍ट नहीं किया गया.

    देश को झकझोर देने वाली इस घटना के संबंध में वायुसेना प्रमुख ने इस बात से इनकार किया कि महिला की टू फिंगर जांच की गई थी, जो कि यौन शोषण का पता लगाने के लिए प्रारंभिक और अवैज्ञानिक जांच है. प्रशिक्षण अकादमी में एक साथी महिला अधिकारी के साथ कथित रूप से बलात्कार के आरोप में एक वायुसेना अधिकारी को गिरफ्तार किए जाने के कुछ दिनों बाद भारतीय वायुसेना को फ्लाइट लेफ्टिनेंट का कोर्ट मार्शल करने की कार्रवाई करने की अनुमति दी गई थी. वायुसेना और तमिलनाडु पुलिस के बीच क्षेत्राधिकार के विवाद के मद्देनजर अदालत ने वायुसेना को अपने अधिकारी के खिलाफ जांच आगे बढ़ाने की अनुमति दी थी.

    हाल ही में वायुसेना ने कोयंबटूर की एक कोर्ट का दरवाजा खटखटाकर इजाजत मांगी थी कि उसे फ्लाइट लेफ्टिनेंट के कोर्ट मार्शल करने दिया जाए. इसके साथ ही वायुसेना ने तमिलनाडु पुलिस से यह भी आग्रह किया था कि उसे जेल में ना डाला जाए.

    पीड़िता की ओर से शिकायत दर्ज कराने के बाद 26 सितंबर को तमिलनाडु पुलिस की ऑल वीमेन टीम ने वायुसेना के अफसर को गिरफ्तार किया था. आरोप है कि छत्‍तीसगढ़ के दुर्ग के रहने वाले इस अफसर ने ट्रेनिंग अकादमी में इंडक्‍शन प्रोग्राम के दौरान घटना को अंजाम दिया था.

    महिला ने दावा किया था कि कुछ वायुसेना अफसर उसपर शिकायत वापस लेने का दबाव बना रहे हैं. कोयंबटूर पुलिस को दी गई शिकायत में महिला का कहना है कि 9 सितंबर को फ्लाइट लेफ्टिनेंट द्वारा उसके क्वार्टर में उसके साथ बलात्कार किया गया था. CNN News18 को मिली एफआईआर की कॉपी के मुताबिक महिला ने जब अपने साथ हुई घटना के बारे में बताया तो कुछ अधिकारियों ने उसकी मानसिक हालत पर सवाल उठाते हुए उसके आरोपों को खारिज कर दिया.

    महिला ने कहा, ‘मैं बीमार महसूस कर रही थी, मेरा दर्द अधिकारियों के रवैये और इस तथ्य को जानने से तेज हो गया था कि मेरा बलात्कारी मुक्त हो जाने वाला था. मुझे लगभग 2:30 बजे पैनिक अटैक आया और मुझे वायुसेना अस्‍पताल ले जाना पड़ा. मुझे नींद न आने के कारण गोलियां दी गईं और मुझे सांस लेने में काफी परेशानी हो रही थी. मुझे एक दिन का आराम दिया गया…’

    एफआईआर में महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि उसे इलाज देने के प्रभारी सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने उस पर अपनी शिकायत वापस लेने के लिए दबाव डाला. उसके द्वारा जमा किए गए पत्रों में बदलाव किया, जिसमें उसके ट्रॉमा की पूरी जानकारी दी गई थी. उसने यह भी आरोप लगाया कि संस्थान के अधिकारियों ने अपराधी के खिलाफ सबूत के साथ छेड़छाड़ करने का प्रयास किया और उनके उदार रवैये ने उसे सिविल पुलिस में शिकायत दर्ज करने के लिए मजबूर किया.

    Tags: Indian air force, Rape

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर