अपना शहर चुनें

States

Weather Update: उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड, दिल्ली-यूपी में आज हो सकती है बारिश

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. (फाइल फोटो)
उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. (फाइल फोटो)

मौसम विभाग (Meteorological Department) के मुताबिक शीतलहर का सामना कर रहे उत्तर भारत (North India) में तीन जनवरी से थोड़ी राहत मिलने के आसार है. तीन जनवरी से तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी दर्ज किए जाने की संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 7:29 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर भारत (North India) में शीतलहर चलने से कड़ाके की ठंड (Cold) पड़ने लगी है. नए साल के पहले दिन जहां घना कोहरा (Fog) छाया रहा, वहीं वैज्ञानिकों ने चेतावनी जारी की है कि अगले कुछ दिनों तक इसी तरह का कोहरा देखा जा सकता है.

इस बीच दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के कुछ हिस्सों में शनिवार को बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम और पश्चिमी दिल्ली के विभिन्न स्थानों पर अगले 2 घंटों में बारिश भी हो सकती है. इसके अलावा यूपी के शामली, देवबंद और सहारनपुर के आसपास के हिस्साों में हल्की तीव्रता की बारिश होने का अनुमान है. वहीं हरियाणा के झज्जर, रोहतक, जींद, पानीपत, करनाल और कैथल में भी बारिश की संभावना है.

मौसम विभाग के मुताबिक शीतलहर का सामना कर रहे उत्तर भारत में तीन जनवरी से थोड़ी राहत मिलने के आसार है. तीन जनवरी से तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी दर्ज किए जाने की संभावना है. विभाग के मुताबिक, 4 से 6 जनवरी के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में बारिश या बर्फबारी का अनुमान है. जम्मू कश्मीर में भारी बारिश या बर्फबारी हो सकती है. इस अवधि में हिमालय के पश्चिमी क्षेत्र में कुछ जगहों पर ओले पड़ने की भी आशंका जताई गई है. मौसम विभाग ने कहा, उत्तर पश्चिम भारत और मध्य भारत के कई हिस्सों में शीतलहर चल रही है. पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, पश्चिमी उत्तरप्रदेश और उत्तरी राजस्थान में अगले 24 घंटे के दौरान यही स्थिति रहेगी.

दिल्ली में शीत लहर के प्रकोप के बीच न्यूनतम तापमान 15 साल में सबसे कम 1.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया. इससे पहले आठ जनवरी 2006 को शहर में न्यूनतम तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. अब तक का सबसे कम तापमान जनवरी 1935 में 0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग के अनुसार पिछले साल जनवरी में न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस रहा था.



इसे भी पढ़ें :- कश्मीर में हाड़ कंपाने वाली सर्दी, गुलमर्ग में पारा शून्य से 9 डिग्री नीचे लुढ़का

कश्मीर में तापमान शून्य से नीचे चला गया
कश्मीर में भी हाड़ कंपाने वाली शीत लहर जारी रही और कई स्थानों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे चला गया है. अधिकारियों ने बताया कि घाटी में तापमान में गिरावट के बाद कई जलाशयों सहित जल आपूर्ति के पाइपों में पानी जम गया. मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग में तापमान शून्य से नौ डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. घाटी में गुलमर्ग सबसे ठंडा स्थान रहा. अमरनाथ यात्रा के लिए दक्षिण कश्मीर में आधार शिविर पहलगाम में पारा शून्य से 7.8 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान चला गया.

इसे भी पढ़ें :- पहाड़ों पर बर्फबारी का अनुमान, बढ़ेगी ठंड, मौसम विभाग ने इन बीमारियों के होने का जताया अंदेशा

हिसार में न्यूनतम तापमान शून्य से माइनस 1.2 डिग्री रहा
हरियाणा और पंजाब में भी शीतलहर का प्रकोप रहा और हिसार में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.2 डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंच गया. दोनों राज्यों में हरियाणा का हिसार सबसे ठंडा स्थान रहा. हरियाणा के नारनौल में तापमान शून्य से 0.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. सिरसा, अंबाला, करनाल, रोहतक और भिवानी में क्रमश: दो डिग्री, 4.4 डिग्री, 3.5 डिग्री, दो डिग्री और 3.9 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. चंडीगढ़ में 6.1 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा.
पंजाब में भी ठंड का प्रकोप बना हुआ है.

इसे भी पढ़ें :- दिल्‍ली में ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड, तापमान 1.1 डिग्री तक पहुंचा

उत्तर प्रदेश में शीतलहर चलने से बाहर निकलना हुआ मुश्किल
उत्तर प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में पिछले 24 घंटे में घने कोहरे, शीतलहर और ठंड की स्थिति बनी हुई है. मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कई स्‍थानों पर मौसम सर्द रहा जबकि पूर्वी उत्तर प्रदेश में भी तापमान सामान्‍य से नीचे दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने पश्चिमी उत्तरप्रदेश में अलग-अलग स्‍थानों पर बारिश और आंधी की आशंका जताई है, लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश में मौसम सर्द रहने का पूर्वानुमान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज