होम /न्यूज /राष्ट्र /केरल में सद्भाव की मिसाल: 500 साल पुराने मंदिर तक सड़क बनाने के लिए मुसलमानों ने दी जमीन, जानिए क्या है पूरा मामला

केरल में सद्भाव की मिसाल: 500 साल पुराने मंदिर तक सड़क बनाने के लिए मुसलमानों ने दी जमीन, जानिए क्या है पूरा मामला

केरल के मलप्पुरम जिले का महादेव मंदिर. इस मंदिर तक सड़क बनाने के लिए मुस्लिमों ने जमीन दान की है. (तस्वीर : साभार- न्यू इंडियन एक्सप्रेस)

केरल के मलप्पुरम जिले का महादेव मंदिर. इस मंदिर तक सड़क बनाने के लिए मुस्लिमों ने जमीन दान की है. (तस्वीर : साभार- न्यू इंडियन एक्सप्रेस)

Communal Harmony in Kerala: मंदिर के रास्ते में पड़ने वाली जमीन के मालिकों अबूबकर और उस्मान ने अपने-अपने हिस्से की जमीने ...अधिक पढ़ें

मलाप्पुरम. केरल से सांप्रदायिक सद्भाव (Communal Harmony in Kerala) की एक अदद मिसाल सामने आई है. मामला मलाप्पुरम (Malappuram) जिले की कोट्टिलंगडी पंचायत का है. यहां करीब 500 पुराने एक मंदिर तक सड़क बनाने के लिए मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के लोगों ने पंचायत को करीब 1,742 वर्गफीट (4 सेंट) जमीन दी है. खबरों के मुताबिक मंदिर तक सड़क बनाने के लिए जमीन देने वालों का नाम सीएच अबूबकर हाजी और एम उस्मान है. इन्होंने जमीन के हस्तांतरण संबंधी औपचारिकताएं पूरी कर दी हैं. अब जल्द ही मंदिर तक 10 फीट चौड़ी और 60 मीटर लंबी सड़क का निर्माण कराया जाएगा. सड़क बनाने के लिए पैसा पंचायत और विधायक निधि से मिलेगा.

इसके बाद स्थानीय लोगों के लिए कडुंगूथ महादेव तक पहुंचने का रास्ता सुगम हो जाएगा. अधिकारियों के मुताबिक, मंदिर तक पहुंचने के रास्ते में काफी झाड़-झंखाड़ भी उग आया था. ग्रामीणों ने मिलकर उसे भी इसी रविवार को साफ कर दिया है. पंचायत के पूर्व सदस्य रहूफ कोट्टिलंगड़ी न ‘द न्यू इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया, ‘मंदिर तक पहुंचने के लिए कायदे की सड़क नहीं थी. इसे मुद्दा बनाकर कुछ लोग सामाजिक सद्भाव (Communal Harmony) बिगाड़ने की कोशिश कर रहे थे.

सोशल मीडिया (Social Media) पर नफरत भरा अभियान चलने लगा था. इसी को रोकने के लिए गांववालों ने मिलकर यह फैसला किया है. इसके लिए मनकडा के स्थानीय विधायक मंजलमकुझी अली की अध्यक्षता में एक बैठक हुई. इसमें पंचायत के सभी सदस्य, राजस्व विभाग के अधिकारी और मलाबार देवस्वम बोर्ड के पदाधिकारी मौजूद थे.

रहूफ ने बताया कि इस बैठक के दौरान मंदिर के रास्ते में पड़ने वाली जमीन के मालिकों अबूबकर और उस्मान ने अपने-अपने हिस्से की जमीनें दान करने पर सहमति जताई. उनके मुताबिक, करीब 1 करोड़ रुपए की लागत से मंदिर का पुनर्निर्माण भी हो रहा है.

इसमें मलाबार देवास्वम बोर्ड (Malabar Devaswom Board) की ओर से करीब 10 लाख रुपए दिए जा रहे हैं.

Tags: Hindu Temple, Kerala

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें