Home /News /nation /

राम मंदिर के 2000 फीट नीचे डाला जायेगा टाइम कैप्सूल ताकि सिर्फ रामजन्मभूमि के मिलें सबूत: ट्रस्टी

राम मंदिर के 2000 फीट नीचे डाला जायेगा टाइम कैप्सूल ताकि सिर्फ रामजन्मभूमि के मिलें सबूत: ट्रस्टी

अयोध्या में राम मंदिर के स्थल पर जमीन के 2,000 फीट नीचे टाइम कैप्सूल रखा जाएगा.

अयोध्या में राम मंदिर के स्थल पर जमीन के 2,000 फीट नीचे टाइम कैप्सूल रखा जाएगा.

अयोध्या में एक समारोह (Ceremony) के लिए तैयारियां की जा रही हैं जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास (lay the foundation stone) करेंगे.

    अयोध्या. रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Ramjanmabhoomi Teerth Kshetra Trust) के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने रविवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर (Ram Temple in Ayodhya) के स्थल पर जमीन के 2,000 फीट नीचे टाइम कैप्सूल (time capsule) रखा जाएगा. चौपाल ने एएनआई से कहा, "टाइम कैप्सूल को जमीन में 2,000 फीट नीचे रखा जाएगा ताकि जो कोई भी मंदिर के इतिहास का अध्ययन करना चाहता है, उसे केवल राम जन्मभूमि से संबंधित तथ्य मिलेंगे."

    बता दें कि अयोध्या में एक समारोह (Ceremony) के लिए तैयारियां की जा रही हैं जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे. इस अवसर पर होने वाले कार्यक्रम को दूरदर्शन पर लाइव स्ट्रीम भी किया जाएगा.

    राम मंदिर के ‘भूमि पूजन’ समारोह के लिये आमंत्रित लोगों में आडवाणी, भागवत शामिल
    अयोध्या में आगामी पांच अगस्त को राम मंदिर के ‘भूमि पूजन’ समारोह के लिए जिन लोगों को आमंत्रित किया जा रहा हैं उनमें भाजपा के वयोवृद्ध नेता लालकृष्ण आडवाणी तथा मुरली मनोहर जोशी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत शामिल हैं. दूरदर्शन द्वारा इस समारोह का सीधा प्रसारण किया जायेगा. मंदिर के ट्रस्टी ने रविवार को यह जानकारी दी.

    श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के एक सदस्य अनिल मिश्रा ने बताया कि इनके अलावा, सभी धर्मों के आध्यात्मिक नेताओं को आमंत्रित करने का विचार है. उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी बनाये रखने के नियम का पालन करते हुए कार्यक्रम में सीमित संख्या लगभग 200 लोगों को बुलाया जायेगा. उन्होंने बताया कि सूची को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है.

    मिश्रा ने बताया कि मंदिर आंदोलन का हिस्सा रहे कई लोगों को आमंत्रण दिया जा रहा है, जिनमें भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती शामिल हैं.

    मोहन भागवात और भैयाजी जोशी को भी आमंत्रण
    मंदिर के एक अन्य ट्रस्टी कामेश्वर चौपाल ने बताया कि आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत और महासचिव सुरेश भैयाजी जोशी को भी विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार के साथ कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया जा रहा है.

    यह भी पढ़ें: क्या राम मंदिर समारोह में उद्धव भाग लेंगे? अघाड़ी के लिए एक और अजीब क्षण

    चौपाल ने कहा कि ‘भूमि पूजन’ के लिए गुरुद्वारों, बौद्ध और जैन मंदिरों सहित सभी प्रमुख पूजा स्थलों से मिट्टी एकत्र की जा रही है. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि यह स्वतंत्र भारत के इतिहास में ‘‘सबसे महत्वपूर्ण’’ कार्यक्रम होगा. उन्होंने भगवान राम के भक्तों से अपील की कि वे अयोध्या आने के बजाय निकटवर्ती मंदिरों या अपने-अपने घरों में इस मौके पर उत्सव मनायें.

    Tags: Ayodhya Land Dispute, PM Modi, Ram Mandir, Ram Mandir Dispute

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर