लाइव टीवी

सोनिया-प्रियंका और ओवैसी के खिलाफ UP में शिकायत दर्ज, CAA पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप

News18Hindi
Updated: December 24, 2019, 3:20 PM IST
सोनिया-प्रियंका और ओवैसी के खिलाफ UP में शिकायत दर्ज, CAA पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप
सोनिया गांधी-प्रियंका गांधी

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (CJM) कोर्ट में प्रदीप गुप्ता नाम के वकील ने सोनिया गांधी (Sonia Gandhi)-प्रियंका गांधी (Priyanka Vadra) और ओवैसी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 24, 2019, 3:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Act) को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Vadra) और AIMIM चीफ
असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के खिलाफ शिकायत दर्ज हुई है. इन तीनों पर संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप है. CJM कोर्ट ने शिकायत स्वीकार कर ली है और सुनवाई के लिए 24 जनवरी 2020 की तारीख मुकर्रर की है.

न्यूज़ एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (CJM) कोर्ट में प्रदीप गुप्ता नाम के वकील ने सोनिया-प्रियंका और ओवैसी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत में इन तीनों के अलावा जाने-माने जर्नलिस्ट रवीश कुमार का नाम भी शामिल है.

प्रदीप गुप्ता ने अपनी शिकायत में कहा है कि सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी, ओवैसी और रवीश कुमार ने नागरिकता कानून (CAA) को लेकर लोगों के बीच भड़काऊ बातें फैलाई और सांप्रदायिक सौहार्द को नुकसान पहुंचाया.

बता दें कि कांग्रेस ने सोमवार को संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship Act) के खिलाफ विरोध और तेज कर दिया. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने राजघाट स्थित महात्मा गांधी के स्मारक पर जहां ‘एकता के लिए सत्याग्रह’ किया, वहीं इसकी सहयोगी द्रमुक ने चेन्नई में बड़ी रैली आयोजित की.

CAA
नागरिकता कानून को लेकर देशभर में हो रहे हैं प्रदर्शन


क्या है नागरिकता कानून?बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के तहत तीन पड़ोसी देशों पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश से प्रताड़ित होकर आए हिंदू, सिख, ईसाई, पारसी, जैन और बुद्ध धर्मावलंबियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी.

 

CAA को लेकर क्यों प्रदर्शन हो रहे हैं?
नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दो तरह के प्रदर्शन हो रहे हैं. पहला प्रदर्शन नॉर्थ ईस्ट में हो रहा है जो इस बात को लेकर है कि इस ऐक्ट को लागू करने से वहां बाहर के लोग आकर बसेंगे, जिससे उनकी संस्कृति को खतरा है. वहीं, नॉर्थ ईस्ट को छोड़ भारत के शेष हिस्से में इस बात को लेकर प्रदर्शन हो रहा है कि यह कानून गैर-संवैधानिक है. प्रदर्शनकारियों के बीच अफवाह फैली है कि इस कानून से उनकी भारतीय नागरिकता छिन सकती है, खासतौर पर इस कानून को मुस्लिम नागरिकों के साथ भेदभाव करने वाला बताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: मोदी कैबिनेट ने NPR को दी हरी झंडी, 1 अप्रैल 2020 से शुरू होगा काम: सूत्र

नेपाल के पीएम केपी ओली ने नागरिकता कानून को लेकर किया ऐसा ट्वीट, फिर किया डिलीट

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 24, 2019, 2:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर