क्या गुपकार अलांयस का हिस्सा बनकर जम्मू के DDC चुनाव में नुकसान उठाएगी कांग्रेस

गुपकर अलायंस की मुख्य पार्टियां नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी है. (फाइल फोटो)
गुपकर अलायंस की मुख्य पार्टियां नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी है. (फाइल फोटो)

जम्मू में कांग्रेस के नेताओं का मानना है कि युवाओं को रोजगार और पूर्ण राज्य की बात पर सहमत किया जा सकता है और पहले इसी आधार पर काम भी किया जा रहा था. लेकिन हिंदू बहुलता वाले जम्मू में आर्टिकल 370 की बहाली की बात पर समर्थन हासिल करना बेहद मुश्किल है. इससे पार्टी को नुकसान के अलावा कुछ नहीं होने वाला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 5:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आर्टिकल 370 (Article 370) की दोबारा बहाली के लिए बनाए गए गुपकार अलायंस (Gupkar Alliance) को लेकर कांग्रेस में असमंजस की स्थिति है. एक तरफ बीजेपी (BJP) उसे लगातार घेर रही है तो दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर में डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल (DDC Election) के चुनाव में हार का खतरा भी मंडरा रहा है. राज्य कांग्रेस के कुछ नेताओं का मानना है कि गुपकार अलांयस को कश्मीर में तो समर्थन मिल सकता है लेकिन जम्मू में पार्टी को इससे बहुत ज्यादा नुकसान उठाना पड़ेगा. अब पार्टी में इसे लेकर पैनिक की स्थिति है. आठ चरणों में प्रस्तावित डीडीसी चुनाव 28 नवंबर से शुरू हो रहे हैं. इनके नतीजे दिसंबर महीने में घोषित किए जाएंगे.

जम्मू के कांग्रेस नेताओं में पैनिक
जम्मू में कांग्रेस के नेताओं का मानना है कि युवाओं को रोजगार और पूर्ण राज्य की बात पर सहमत किया जा सकता है और पहले इसी आधार पर काम भी किया जा रहा था. लेकिन हिंदू बहुलता वाले जम्मू में आर्टिकल 370 की बहाली की बात पर समर्थन हासिल करना बेहद मुश्किल है. इससे पार्टी को नुकसान के अलावा कुछ नहीं होने वाला है.

क्या बोले जम्मू-कश्मीर कांग्रेस अध्यक्ष
जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने न्यूज़ 18 को बताया है कि उनकी पार्टी ने गुपकार अलायंस के साथ सिर्फ चुनावी समझौता किया. उन्हें अभी इस बात पर निर्णय लेना बाकी है कि पार्टी पूरी तरीके से अलायंस का हिस्सा बनेगी या नहीं. इससे पहले कांग्रेस गुपकार अलायंस की कई बैठकों में नहीं भी शामिल हुई है.



शुरुआत में अलायंस का हिस्सा नहीं बनना चाहती थी कांग्रेस
सूत्रों के मुताबिक शुरुआत में कांग्रेस गुपकार अलायंस के साथ कोई समझौता नहीं करना चाहती थी. कारण साफ था कि उसे जम्मू में नुकसान का अंदेशा था. जम्मू में बीजेपी की जबरदस्त पकड़ है और दोनों लोकसभा सीटों पर उसका कब्जा है. अब जम्मू के नेता गुपकार अलायंस के साथ जुड़ाव को लेकर असहज हो गए हैं.



बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व पूछ रहा है सवाल
इससे पहले सोमवार को जम्मू से सांसद और केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा था कि गुपकार अलांयस का साथ देकर कांग्रेस पूरे देश से साफ हो जाएगी. गृह मंत्री अमित शाह ने भी कांग्रेस से आर्टिकल 370 पर अपना स्टैंड साफ करने को कहा है. (मुफ्ती इस्लाह की स्टोरी से इनपुट्स के आधार पर)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज