2021 में असम की सत्ता से BJP को हटाने की तैयारी में कांग्रेस, महागठबंधन की कोशिश

2021 में असम की सत्ता से BJP को हटाने की तैयारी में कांग्रेस, महागठबंधन की कोशिश
पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई गैर भाजपाई दलों को साथ आने का आह्वान किया है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस (Congress) ने मंगलवार को आह्वान किया कि विधानसभा चुनाव में सर्वानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए एआईयूडीएफ सहित सभी गैर भाजपाई दलों को एक महागठबंधन बनाना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 10:49 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. असम में विपक्षी कांग्रेस (Congress) ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Elections 2021) में बीजेपी (BJP) को सत्ता से हटाने के लिए महागठबंधन (Grand Alliance) का आह्वान किया है. कांग्रेस ने मंगलवार को आह्वान किया कि विधानसभा चुनाव में सर्वानंद सोनोवाल के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए एआईयूडीएफ सहित सभी गैर भाजपाई दलों को एक महागठबंधन बनाना चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई (Tarun Gogoi) ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस संबंध में चर्चा करने के लिए राज्य कांग्रेस की कोर कमेटी की बैठक में निर्णय किया गया.

'एआईयूडीएफ और वाम दलों सहित अन्य दलों से बात करेंगे'
उन्होंने कहा, ‘हम राज्य में बीजेपी नीत सरकार की हार सुनिश्चित करने के लिए एआईयूडीएफ और वाम दलों सहित अन्य दलों से बात करेंगे.’ गोगोई ने कहा कि राज्य के लोग परिवर्तन चाहते हैं और इसलिए कोर कमेटी ने अपनी बैठक में निर्णय किया कि महागठबंधन बनाने के लिए सभी दलों से चर्चा की जाएगी.

‘मुख्यमंत्री कांग्रेस से होगा’
यह पूछे जाने पर कि अगर गठबंधन चुनाव जीतता है तो क्या बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व वाली एआईयूडीएफ को सरकार में शीर्ष पद मिलेगा, गोगोई ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री कांग्रेस से होगा.’ बाद में, बीजेपी नीत नॉर्थ-ईस्ट डेमोक्रेटिक एलायंस के संयोजक हेमंत विश्व सरमा ने राज्य सचिवालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 2021 के विधानसभा चुनाव में तरुण गोगोई की कोई प्रासंगिकता नहीं रहेगी।



बीजेपी बोली-अप्रासंगिक हो चुके हैं तरुण गोगोई
सरमा ने तीन बार मुख्यमंत्री रहे गोगोई पर हमला करते हुए कहा, ‘ऐसे समय जब उन्हें (गोगोई) राम-कृष्ण का नाम भजना चाहिए, तब वह अजमल का नाम ले रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘2021 के विधानसभा चुनाव में तरुण गोगोई की कोई प्रासंगिकता नहीं है. वह 90 साल के हैं और उन्हें ऐसी चुनौती देने से बचना चाहिए जिसका कोई अर्थ या प्रासंगिकता नहीं है.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज