कर्नाटक के CM येडियुरप्पा ने किया भ्रष्टाचार, चुप क्यों हैं चौकीदार- कांग्रेस

बीएस येडियुरप्‍पा पर कांग्रेस ने लगाए भ्रष्‍टाचार के आरोप.
बीएस येडियुरप्‍पा पर कांग्रेस ने लगाए भ्रष्‍टाचार के आरोप.

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कहा कि येडियुरप्‍पा पर भ्रष्‍टाचार के मामले में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और पीएम नरेंद्र मोदी की चुप्पी ने सवाल खड़े किए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 4:17 PM IST
  • Share this:
नई‍ दिल्‍ली. कांग्रेस (Congress) ने रविवार को कर्नाटक सरकार और मुख्‍यमंत्री बीएस येडियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) पर फिर से भ्रष्‍टाचार का आरोप लगाकर उनका इस्‍तीफा मांगा है. कांग्रेस ने सीएम बीएस येदियुरप्‍पा, उनके बेटे, दामाद और पौत्र पर 662 करोड़ रुपये के भ्रष्‍टाचार के आरोप फिर से लगाए हैं. कर्नाटक में बीजेपी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कई आरोप लगाए हैं.

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कहा कि येडियुरप्‍पा पर भ्रष्‍टाचार के मामले में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और पीएम नरेंद्र मोदी की चुप्पी ने सवाल खड़े किए हैं. उन्‍होंने कहा कि येडियुरप्‍पा के मामले में चौकीदार क्‍यों सो रहे हैं. उन्‍होंने इस पूरे मामले की न्‍यायिक जांच की भी मांग उठाई. सिंघवी ने कहा, 'बीजेपी और कर्नाटक सरकार दूसरे घरों में चौकीदारी कर रही है और अपने घर में खाने दूंगा की नीति अपना रही है. क्यों पीएम, गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष चुप हैं. मुख्यमंत्री को पद से क्यों नहीं हटाया गया.'

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि पूरे मामले में यहां तक कि भ्रष्टाचार की एफआईआर तक दर्ज नहीं हुई है. भ्रष्टाचार में मुख्यमंत्री का पुत्र, पौत्र और दामाद शामिल हैं. 662 करोड़ का घर बनाने का प्रोजेक्ट है. बेंगलुरू का प्रोजेक्ट है. BDA आयुक्त को 12 करोड़ रिश्वत दी गई. चैट में यह सब है.

उन्‍होंने कहा, 'विधानसभा में सदन के अंदर भी ये स्वीकार किया गया है. अभियुक्त को सिर्फ ट्रांसफर किया, FIR क्यों नहीं हुई. अभी तक कॉन्ट्रैक्‍ट को कैंसल क्यों नहीं किया गया. पैसे का लेनदेन हुआ है, यह सब साफ है और मुख्यमंत्री का परिवार इसमें शामिल है. कांग्रेस ने मांग की कि हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की निगरानी में दो महीने मामले की जांच हो. मनी लॉन्ड्रिंग में केस दर्ज हो. यह भी व्यापमं जैसा ही घोटाला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज