होम /न्यूज /राष्ट्र /J-K: कांग्रेस ने BDC चुनाव का किया बहिष्कार, कहा- सब नज़रबंद हैं, इलेक्शन कौन लड़ेगा

J-K: कांग्रेस ने BDC चुनाव का किया बहिष्कार, कहा- सब नज़रबंद हैं, इलेक्शन कौन लड़ेगा

जम्मू-कश्मीर में जल्द ही निकाय चुनाव होने हैं.

जम्मू-कश्मीर में जल्द ही निकाय चुनाव होने हैं.

जम्मू-कश्मीर कांग्रेस नेता गुलाम अहमद मीर (Ghulam Ahmad Mir) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को दौरान ये बातें कही. उन्होंने कहा ...अधिक पढ़ें

    श्रीनगर. कांग्रेस पार्टी (Congress) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में 24 अक्टूबर को होने वाले ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल (BDC) चुनाव का बहिष्कार किया है. केंद्र पर आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने कहा कि जब विपक्ष के नेता नज़रबंद और हिरासत में हैं, तो चुनाव कौन लड़ेगा. बता दें कि केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के आर्टिकल 370 को खत्म कर दिया है. इसके बाद से ही नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी और अलगाववादी नेता नज़रबंद हैं. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को तो पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) के तहत गिरफ्तार किया गया है.

    केंद्र शासित प्रदेश बनने के एक हफ्ते पहले जम्मू-कश्मीर में होंगे ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव

    केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने के साथ ही राज्य को दो हिस्सों में बांट दिया है. अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे. 31 अक्टूबर से ये दोनों नए केंद्र शासित प्रदेश बन जाएंगे. इसके एक हफ्ते पहले ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव होंगे.

    जम्मू-कश्मीर कांग्रेस नेता गुलाम अहमद मीर (Ghulam Ahmad Mir) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को दौरान ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'अभी तक बीडीसी चुनाव की हलचल तेज नहीं हुई है. चुनाव लड़ने के लिए राजनीतिक पार्टियां हैं कहां? कौन बीडीसी चुनाव लड़ेगा?'

    kahsmir police
    कश्मीर में अभी भी तमाम तरह के बैन लगे हैं.


    मीर ने आगे कहा, 'बेशक हम चुनाव लड़ना चाहते हैं... हमने इसके लिए चुनाव आयोग (EC) और केंद्र से इस बारे में बात भी की है. लेकिन, अभी भी हमारे नेता हिरासत और नज़रबंद हैं. हम चाहते हैं कि उन्हें चुनाव प्रचार के लिए रिहा किया जाए. लेकिन, इस संबंध में केंद्र की तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई.'

    मीर ने कहा, 'जिस तरह से विपक्ष के नेताओं को नज़रबंद किया जा रहा है, उससे साफ है कि सिर्फ एक पार्टी के लिए चीजें आसान की जा रही हैं. इसलिए हमने बीडीसी चुनावों का बहिष्कार करने का फैसला लिया है.'


    इस पर कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने भी प्रतिक्रिया दी है. खुर्शीद ने कहा, 'मेरी समझ से सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों के साथ ठीक नहीं कर रही है. तमाम प्रतिबंधों के बीच लोग बड़ी मुश्किल में हैं और बगावत कर सकते हैं.

    कब और कितने बजे है बीडीसी चुनाव?
    न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के मुख्य निर्वाचन अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने रविवार को कहा कि पूरे जम्मू-कश्मीर में ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव 24 अक्टूबर को सुबह 9 बजे से 1 बजे के बीच होंगे. इसी दिन वोटों की गिनती की जाएगी जो कि दोपहर 3 बजे शुरू होगी. ये चुनाव राज्य के 316 में से 310 ब्लॉक में होगा.

    बैलेट बॉक्स से होंगे मतदान
    शैलेंद्र कुमार ने कहा कि इन चुनावों में पिछले साल चुने गए पंच और सरपंच इन ब्लॉक के लिए बीडीसी चेयरपर्सन चुनेंगे. निर्वाचकों की संख्या 26,629 है और चुनाव बैलेट बॉक्स के माध्यम से होंगे. उन्होंने बताया कि हर उम्मीदवार अपने चुनावी प्रचार के लिए सिर्फ 2 लाख रुपये खर्च कर सकता है.

    कुमार ने बताया कि हर ब्लॉक में सिर्फ एक पोलिंग स्टेशन होगा. मतदान अपनी गाइनलाइंस के हिसाब से हो रहे हैं यह सुनिश्चित करने के लिए हर दो ब्लॉक के लिए एक ऑब्ज़र्वर नियुक्त किया जाएगा. आपको बता दें 316 में से 172 सीटें एससी, एसटी और महिलाओं के लिए आरक्षित हैं.

    ये भी पढ़ें: 3.5 करोड़ की फरारी कार से चलने वाला महाराष्ट्र का सबसे अमीर प्रत्याशी

    सबसे अमीर क्षेत्रीय दल है समाजवादी पार्टी, कहां से आते हैं इतने पैसे?

     

    Tags: All India Congress Committee, Article 370, BJP, Jammu kashmir

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें