बंगाल में TMC-BJP को टक्कर देने तैयारी, कांग्रेस-वाम मोर्चा में दोस्ती की आहट

बंगाल में TMC-BJP को टक्कर देने तैयारी, कांग्रेस-वाम मोर्चा में दोस्ती की आहट
पश्चिम बंगाल कांग्रेस के नए अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने वाम मोर्च से गठबंधन की बात कही है. (File Photo)

पश्चिम बंगाल में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा (West Bengal Assembly Election 2021) चुनाव प्रस्तावित हैं. ऐसे में कांग्रेस की तरफ से वाम मोर्चे के लिए दोस्ती के हाथ को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 10:51 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. कांग्रेस पार्टी (Congress) पश्चिम बंगाल में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) के साथ गठबंधन करने को तैयार है. राज्य पार्टी अध्यक्ष अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने कहा है कि उनकी पार्टी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव  (West Bengal Assembly Election 2021)  में तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के खिलाफ माकपा की अगुवाई वाले वाम मोर्चे के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार है. उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में बुनियादी लड़ाई धर्मनिरपेक्षता और सांप्रदायिकता के बीच है.

 2016 में वाम मोर्चे के साथ कांग्रेस ने गठबंधन किया था
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष का कार्यभार संभालने के बाद चौधरी ने कहा, ‘कांग्रेस के धर्मनिरपेक्ष आदर्श भाजपा एवं तृणमूल की सांप्रदायिक बयानबाजी को पराजित करेंगे. तृणमूल कांग्रेस के कुशासन के खिलाफ कांग्रेस वाम मोर्चे के साथ मिलकर पूरे जोश से लड़ना चाहती है.’ उल्लेखनीय है कि 2016 में वाम मोर्चे के साथ कांग्रेस ने गठबंधन किया था, हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में यह गठबंधन टूट गया.

क्या बोले अधीर रंजन चौधरी
लोकसभा में कांग्रेस के नेता चौधरी ने कहा, ‘हम माकपा और दूसरे वाम दलों के साथ समझौता कभी खत्म नहीं करना चाहते थे, लेकिन माकपा को शायद यह लगा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन करने से उसे अपेक्षित सफलता नहीं मिली. बहरहाल, कांग्रेस ने ऐसा कभी नहीं सोचा.’ चौधरी इससे पहले भी फरवरी, 2014 से सितंबर, 2018 तक पश्चिम बंगाल पीसीसी के अध्यक्ष रह चुके हैं.





बहरामपुर से लोकसभा सदस्य चौधरी के लिए नयी जिम्मेदारी इस मायने में महत्वपूर्ण और चुनौतीपूर्ण भी है कि पश्चिम बंगाल में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज