Home /News /nation /

ये हैं सबसे बड़ी वो 5 वजह जिसके कारण शायर इमरान प्रतापगढ़ी बन गए कांग्रेस के 'हमदर्द'

ये हैं सबसे बड़ी वो 5 वजह जिसके कारण शायर इमरान प्रतापगढ़ी बन गए कांग्रेस के 'हमदर्द'

फोटो- मुरादाबाद में समर्थकों के बीच इमरान प्रतापगढ़ी.

फोटो- मुरादाबाद में समर्थकों के बीच इमरान प्रतापगढ़ी.

मुशायरा कोई भी हो लेकिन अपनी शायरी से पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम योगी पर निशाना लगाने से नहीं चूकते. मॉब लिंचिंग, नजीब, वेमुला, कैराना पलायन आदि दर्जनों मामलों को अपनी नज़्म में शामिल कर सुर्खियों में आ चुके हैं.

हिंदी और उर्दू के शायरों में एक खास दर्जा हासिल है. मौजूदा हालात को अपनी नज़्म में उतारना और उस पर सटीक टिप्पणी करना उनकी पहचान बन चुकी है. जिसके चलते लगातार सियासत के निशाने पर भी रहते हैं. मॉब लिंचिंग, नजीब, वेमुला, कैराना पलायन आदि दर्जनों मामलों को अपनी नज़्म में शामिल कर सुर्खियों में आए थे. इस सब के खिलाफ ‘लहू बोल रहा है’ का नारा देकर जंतर-मंतर पर सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठी कर प्रदर्शन किया था.

इस सब से अलग ये कि मुशायरा कोई भी हो लेकिन अपनी शायरी से पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम योगी पर निशाना लगाने से नहीं चूकते. ये ही वो सब वजह हैं जिसके चलते लाखों युवा शायर इमरान प्रतापगढ़ी को हाथों-हाथ लेते हैं. सोशल मीडिया पर भी चाहने वालों की कोई कमी नहीं है.

अकेले एक फेसबुक पेज पर 10 लाख से अधिक उनके चाहने वाले हैं. ट्वीटर पर उन्हें 3.50 लाख से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं. उनके फॉलोअर ने सोशल मीडिया पर इमरान प्रतापगढ़ी के नाम से कई ग्रुप बनाए हुए हैं.

फोटो- इमरान प्रतापगढ़ी और राजबब्बर.


किसी भी शहर में पहुंचने पर इमरान के पीछे हजारों लोगों का हुजूम होता है. इस तरह की भीड़ के वीडियो और फोटो उनके फेसबुक पेज पर देखे जा सकते हैं. शायद ये ही वो वजह हैं जिसके चलते कांग्रेस ने उन्हें राजबब्बर की जगह लोकसभा चुनाव 2019 में अपना उम्मीदवार बनाया है.

जैसा मिज़ाज है तो जाहिर सी बात है कि अंदाज-ए-आगाज़ भी उसी तरह का होगा. जब कांग्रेस ने इन्हें मुरादाबाद लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया तो सबसे पहले इमरान ने ये शेर पढ़ा था,

फाइल फोटो- संजय निरुपम और मोहम्मद अजहरउद्दीन के साथ इमरान प्रतापगढ़ी.


बुज़ुर्गों की विरासत पर अभी तक नाज़ करता हूँ, ज़मीं का साथ देने के लिये परवाज़ करता हूँ !

सियासत जंग है इस दौर में जम्हूरियत वालों, मुरादाबाद से इस जंग का आग़ाज़ करता हूँ !!  

6 अगस्त, 1987 को जन्मे इमरान यूपी के प्रतापगढ़ जिले के हैं. उनका पूरा नाम मोहम्मद इमरान खान है. अपने जिले प्रतापगढ़ के नाम को वह तखल्लुस की तरह इस्तेमाल करते हैं. एक दौर में जिस तरह कुमार विश्वास कवि सम्मेलनों से उभरे थे, उसी तरह इमरान प्रतापगढ़ी ने भी मुशायरों में अपनी पहचान बनायी. हालांकि कहा जाता है कि उनकी शायरी में मोहब्बत के कम और सियासी तीर ज्यादा चलते हैं.

फाइल फोटो- अपने फॉलोअर के बीच में इमरान प्रतापगढ़ी.


इमरान ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से हिंदी की पढ़ाई की है. हिंदी और उर्दू दोनों भाषाओं में उनकी अच्छी पकड़ है. उनके पिता मोहम्मद इलयास खान पेशे से डॉक्टर हैं. इमरान ने पांचवीं क्लास से शेर-ओ-शायरी, कविता लिखनी शुरू कर दी थी. देश के अलावा इमरान विदेशों के मुशायरों में भी शिरकत करते रहते हैं.

मदरसा, फिलिस्तीन, हम मुसलमान हैं और नजीब पर लिखी गईंउनकी नज़्में काफी चर्चित रही हैं. वह मुसलमानों की तालीम की वकालत करते हैं, साथ ही मुसलमानों के हक और राजनीतिक मुद्दों पर अपनी स्पष्ट सोच रखते हैं. वक्त-वक्त पर इमरान सियासी मंचों पर भी नजर आते रहे हैं. उन्होंने एक दौर में अन्ना हजारे के खिलाफ भी नज़्में पढ़ी थीं.

फाइल फोटो- इमरान प्रतापगढ़ी.


अभी तक शायरी से मुद्दे उठाता रहा, अब संसद में उठाऊंगा देश की आवाज़-इमरान प्रतापगढ़ी

इस मुलाकात ने इमरान को सियासत में उतारा

एक कार्यक्रम में इमरान जिक्र करते हुए बताते हैं कि नवम्बर 2018 में राहुल गांधी से मुलाकात हुई थी. ये मुलाकात 25 मिनट की तय हुई थी. लेकिन जब हम बैठे तो वो बैठक 1.30 घंटा चली. शायरी से लेकर सियासत और देश के मुद्दों पर बातचीत हुई. इस पूरी मुलाकात में मुझे राहुल गांधी की सादगी और उनके विजन ने मुझे बहुत प्रभावित किया. और सोने पे सुहागा ये कि जब प्रियंका गांधी आईं तो एक जोश भर गया.

ये भी पढ़ें-

Loksabha Election 2019: देश में किस लोकसभा सीट पर किस पार्टी का कौन है उम्मीदवार, एक क्लिक पर यहां मिलेगी पूरी जानकारी

 Loksabha Election 2019: मुसलमान लोकसभा में इसलिए सिमट गए सिर्फ 24 सीट पर

आप नेता संजय सिंह इस कांग्रेस उम्मीदवार की तारीफ में बोले, ‘ये आवाज़ संसद में कमाल दिखाएगी’

पढ़ें कुमार विश्वास ने इमरान प्रतापगढ़ी से क्यों कहा ‘सियासत के बीहड़’

Tags: All India Congress Committee, General Election 2019, Lok Sabha Election 2019, Pm narendra modi, Priyanka gandhi, Rahul gandhi, Yogi adityanath

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर