होम /न्यूज /राष्ट्र /अशोक गहलोत अब क्या करेंगे? कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ेंगे या CM बने रहेंगे; जानें किस चीज का है इंतजार

अशोक गहलोत अब क्या करेंगे? कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ेंगे या CM बने रहेंगे; जानें किस चीज का है इंतजार

राजस्थान में जारी है सस्पेंस, आलकमान का फैसला ही गहलोत का आगे का कदम तय करेगा. (फाइल फोटो)

राजस्थान में जारी है सस्पेंस, आलकमान का फैसला ही गहलोत का आगे का कदम तय करेगा. (फाइल फोटो)

राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत के अगले कदम पर सबकी निगाहे हैं. क्या अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष का चुन ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

अशोक गहलोत को है कांग्रेस आलाकमान के संदेश का इंतजार.
अभी जयपुर में ही हैं अशोक गहलोत.
कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी आज रिपोर्ट पर फैसला लेंगी.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में अशोक गहलोत ताल ठोकेंगे या नहीं, या फिर राजस्थान में मुख्यमंत्री की कुर्सी पर ही बने रहेंगे, इसे लेकर सस्पेंस बरकरार है. हालांकि, मुख्यमंत्री गहलोत के करीबी सूत्रों ने जानकारी दी है कि कांग्रेस आलाकमान का फैसला ही अशोक गहलोत के आगे का कदम तय करेगा. फिलहाल, अशोक गहलोत को पार्टी आलाकमान के अगले संदेश का इंतजार है, उसके बाद ही वह कुछ फाइनल फैसला ले पाएंगे. बता दें कि रविवार को गहलोत गुट के विधायकों की बगावत के बाद राजस्थान में कांग्रेस के लिए संकट की स्थिति पैदा हो गई है.

सूत्रों की मानें तो प्रभारी और पर्यवेक्षक की रिपोर्ट पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के फैसले के बाद जो भी निर्देश होगा, अशोक गहलोत उसी निर्देशानुसार कदम उठाएंगे. क्या अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ेंगे? इस सवाल के जवाब में अशोक गहलोत के करीबी सूत्रों ने बताया कि सारी चीजें पार्टी आलाकमान यानी सोनिया गांधी के निर्देश पर तय होगा, क्योंकि अभी मौजूदा स्थिति में रिपोर्ट पर कांग्रेस अध्यक्ष के फैसले या फिर किसी तरह के दूसरे संदेश का इंतजार है.

यह भी पढ़ें: अगर गहलोत नहीं तो फिर कौन? ये 5 चेहरे भी कांग्रेस अध्‍यक्ष पद की रेस में आगे, इन्‍हें कितना जानते हैं आप?

करीबी सूत्र ने यह भी बताया कि अशोक गहलोत की सोनिया गांधी से अभी तक कोई बात नहीं हुई है. बता दें कि कांग्रेस की राजस्थान इकाई में खुली बगावत से नाराज पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार को पार्टी के पर्यवेक्षकों मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन से रिपोर्ट मांगी थी, जिस पर आज फैसला होगा. माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के वफादार माने जाने वाले कुछ नेताओं के खिलाफ ‘अनुशासनहीनता’ के आरोप में कार्रवाई की जा सकती है.

एक तरफ जहां, राजस्थान के सियासी संकट के समाधान के लिए दिल्ली बुलाए गए मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने सोनिया गांधी से मुलाकात की, वहीं दूसरी तरफ राजस्थान के सियासी संकट को समझने के लिए पहुंचे पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रदेश प्रभारी अजय माकन जयपुर से दिल्ली वापस लौट गए. माना जा रहा है कि आज वे दोनों दस जनपथ पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर राजस्थान के सियासी संकट पर लिखित रिपोर्ट पेश करेंगे.

खबर यह भी है कि पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, अशोक गहलोत को आज यानी मंगलवार को दिल्ली पहुंचना था, क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए बुधवार को उनके नामांकन भरने का कार्यक्रम प्रस्तावित है, मगर राजस्थान में उपजे ताजा सियासी हालात के बाद फिलहाल उनकी दावेदारी पर भी संशय के बादल मंडराने लगे हैं. अध्यक्ष पद के लिये उनके नामांकन भरने पर संशय बना हुआ है. फिलहाल, अशोक गहलोत और सचिन पायलट आज जयपुर में ही हैं और आलाकमान के अगले आदेश का इंतजार कर रहे हैं.

Tags: Ashok gehlot, Congress, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें