ममता बनर्जी ने बीजेपी के खिलाफ लड़ाई में मांगा साथ, कांग्रेस-CPM ने किया इनकार

कांग्रेस और सीपीएम का कहना है कि राज्य में बीजेपी के उभरने के लिए ममता सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं.

News18Hindi
Updated: June 27, 2019, 12:25 PM IST
ममता बनर्जी ने बीजेपी के खिलाफ लड़ाई में मांगा साथ, कांग्रेस-CPM ने किया इनकार
कांग्रेस-सीपीएम ने ममता का साथ देने से किया इनकार
News18Hindi
Updated: June 27, 2019, 12:25 PM IST
पश्चिम बंगाल में बीजेपी के तेजी से बढ़ते जनाधार को देखते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कांग्रेस और सीपीएम को साथ चुनाव लड़ने का ऑफर दिया है. हालांकि दोनों ही पार्टियों ने इस ऑफर को ठुकरा दिया है. दोनों दलों का कहना है कि राज्य में बीजेपी के उभरने के लिए ममता सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं. गौरतलब है कि राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी के अभिभाषण पर चर्चा करते हुए ममता बनर्जी ने विधानसभा में कहा था कि बीजेपी राज्य में समानांतर सरकार चलाने का प्रयास कर रही है. राज्य के हालात जिस तरह के हो गए हैं, उसको देखते हुए कांग्रेस-सीपीएम जैसी पार्टियों को टीएमसी के साथ आना चाहिए और बीजेपी को रोकने में उसका साथ देना चाहिए.

ममता बनर्जी की इस अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता अब्दुल मन्नान का कहना है कि बीजेपी से हमें किस तरह से संघर्ष करना है यह हमें ममता बनर्जी से सीखने की जरूरत नहीं है. सरकार की नीतियों का ही असर है कि बीजेपी ने बंगाल में अपनी जमीन तैयार कर ली है. पहले ममता बनर्जी को इस बात को स्वीकार करना चाहिए कि उनकी गलतियों के कारण ही बीजेपी राज्य में तेजी से मजबूत हो रही है.



ममता बनर्जी ने विधानसभा में कहा था कि बीजेपी राज्य में समानांतर सरकार चलाने का प्रयास कर रही है.


सीपीएम विधायक दल के नेता सुजान चक्रबर्ती ने भी ममता बनर्जी की नीतियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि ममता की अपील से उनका डर दिख रहा है.

इसे भी पढ़ें :- बंगाल में ‘कटमनी’ बना बड़ा मुद्दा, टीएमसी के कमीशनखोर नेताओं के पीछे पड़ी बीजेपी

सीपीआई (एम) से हाथ मिलाने की बात से सब हैरान
तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि 'पश्चिम बंगाल में बीजेपी के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए लेफ्ट फ्रंट, कांग्रेस और टीएमसी को साथ आना चाहिए. मुझे आशंका है कि बीजेपी भारत के संविधान को बदल देगी. मुझे लगता है कि हम सभी को, जिनमें लेफ्ट और कांग्रेस भी शामिल हैं, बीजेपी का मुकाबला करने के लिए हाथ मिलाना चाहिए'. तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने इससे पहले कई मौकों पर राष्ट्रीय स्तर पर लेफ्ट और कांग्रेस के साथ गठबंधन की बात कही थी, लेकिन पहली बार उसने खुले तौर पर अपने प्रतिद्वंदियों के साथ हाथ मिलाने की बात कही, ताकि घर पर बड़े दुश्मन को हरा सकें.
Loading...

इसे भी पढ़ें :- ममता बनर्जी को झटका, पहली बार किसी जिला परिषद पर BJP का कब्जा

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...