अपना शहर चुनें

States

पश्चिम बंगाल में तीन हत्याओं से विचलित हुई कांग्रेस, कहा-केंद्र चाहे तो राज्य में लगा दे राष्ट्रपति शासन

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर चिंता जताई है.
कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर चिंता जताई है.

कांग्रेस (Congress) नेता अधीर रंजन चौधरी (Ranjan Chaudhary) ने आरोप लगाया कि बीजेपी (BJP) राज्य में तो राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करती है लेकिन दिल्ली में टीएमसी (TMC) के साथ दोस्ताना रिश्ते रखती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 4:13 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. लोकसभा चुनाव (Lok Sabha election) में एक ही मंच पर दिखाई देने वाली कांग्रेस (Congress) और टीएमसी (TMC)के बीच खटास साफ देखी जा सकती है. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर बीजेपी (BJP) के बाद अब कांग्रेस ने भी हमला बोला है. कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (Ranjan Chaudhary) ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला करते हुए केंद्र सरकार से कहा है कि वह चाहे तो राष्ट्रपति शासन लगा सकती है. कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि बीजेपी राज्य में तो राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करती है लेकिन दिल्ली में टीएमसी के साथ दोस्ताना रिश्ते रखती है.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या की खबरें बढ़ती जा रही हैं. इस बार के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल से सबसे ज्यादा हिंसा की खबरें आई थीं. दो दिन पहले ही मुर्शिदाबाद में एक परिवार के सभी तीन सदस्यों, जिसमें आठ वर्षीय पुत्र और गर्भवती मां भी शामिल हैं, उन्हें धारदार हथियार से काट डाला गया था.


गौरतलब है कि जियागंज इलाके में 35-वर्षीय स्कूल शिक्षक बंधुप्रकाश पाल, उनकी 30-वर्षीय पत्नी ब्यूटी तथा आठ-वर्षीय पुत्र आंगन का शव उनके घर में अलग-अलग स्थानों से बरामद किया गया था. इन सभी घटनाओं को देखते हुए अब कांग्रेस ने टीएमसी पर हमला बोला है.



इसे भी पढ़ें :-पश्चिम बंगाल में एक साथ 3 लोगों की हत्या, RSS कार्यकर्ता, गर्भवती पत्नी और बेटा

इन हत्याओं ने उस समय राजनैतिक रंग ले लिया, जब भारतीय जनता पार्टी तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने बयान जारी कर कहा कि बंधुप्रकाश पाल आरएसएस कार्यकर्ता थे. बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस पूरी घटना का एक वीडियो जारी करते हुए कहा था कि इसने मेरी अंतरात्मा को हिलाकर रख दिया है. एक आरएसएस कार्यकर्ता बंधुप्रकाश पाल, उनकी पत्नी और उनके बच्चे को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में क्रूरता से काट डाला गया. उदारवादियों की ओर से एक शब्द भी नहीं कहा गया. इस तरह की घटनाओं पर ही प्रतिक्रिया दिए जाने से मुझे घिन आती है.

इसे भी पढ़ें :-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज