नेतृत्व के संकट का सामना कर रही कांग्रेस तो बीजेपी कर रही 2024 की तैयारी!

पीएम मोदी जहां अगले पांच साल का खाका खींचा तो वहीं दूसरी ओर अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश दिया कि सभी तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और केरल में अपनी जमीन बनाएं.

News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 8:47 PM IST
नेतृत्व के संकट का सामना कर रही कांग्रेस तो बीजेपी कर रही 2024 की तैयारी!
पीएम मोदी जहां अगले पांच साल का खाका खींचा तो वहीं दूसरी ओर अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश दिया कि सभी तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और केरल में अपनी जमीन बनाएं.
News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 8:47 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर सदस्यता अभियान शुरू कर दिया है. एक ओर कांग्रेस जहां, नेतृत्व के संकट का सामना कर रही है वहीं बीजेपी मानों साल 2024 के चुनाव की तैयारी कर रही है. इस बार बीजेपी, दक्षिण भारत पर अपनी नजर गड़ा रही है.

शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने एक ओर वाराणसी से सदस्यता अभियान की शुरुआत की तो वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने तेलंगाना में शुरुआत की. शाह ने तेलंगाना में एक सभा के दौरान कहा कि 'हमें गर्व है कि हमारी पार्टी विचारधारा के आधार पर चलने वाली पार्टी है. हमारी पार्टी संगठन के आधार पर विस्तारित होने वाली पार्टी है. जो पार्टी संगठन के आधार पर विस्तारित होती हैं, उनके विस्तार की गति धीमी जरूर होती है, लेकिन मजबूत होती है.'

एक ओर वाराणसी में पीएम मोदी जहां अगले पांच साल का खाका खींचा तो वहीं दूसरी ओर अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश दिया कि सभी तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और केरल सरीके राज्यों में अपनी जमीन तैयार करे.

यह भी पढ़ें:  शबाना आजमी ने मोदी सरकार पर उठाई उंगली, हो गईं ट्रोल

आइए आपको बताते हैं दक्षिण के किस राज्य में बीजेपी के क्या हाल हैं.

क्या है कर्नाटक के हाल

शनिवार को 13 विधायकों के इस्तीफे के बाद कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस की सरकार संकट में हैं. बहुमत के लिए 113 विधायक चाहिए और गठबंधन सरकार के पास 116 विधायक हैं. अगर सभी इस्तीफे स्वीकार हो जाते हैं तो यहां बीजेपी की सरकार बन सकती है.
Loading...

केरल
बीजेपी के लिए केरल बड़ी चुनौती है लेकिन वहां उन्होंने अपना बूथ काफी मजबूत किया. बीजेपी का मानना है कि पश्चिम बंगाल की तरह ही केरल में वह कमल खिला पाएगी. पीएम मोदी ने भी केरल की ओर रुख कर लिया है. लोकसभा चुनाव में बीजेपी का वहां खाता न खुला हो लेकिन चुनाव के बाद पीएम मोदी सबसे पहले केरल गए.

आंध्र प्रदेश
आंध्र प्रदेश में फिलहाल जगन मोहन रेड्डी की पूर्ण बहुमत की सरकार है. हाल ही समय में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेलगु करारी हार हुई है. हालांकि टीडीपी के 4 राज्यसभा सांसद बीजेपी में शामिल हो गए. विधानसभा चुनाव में भी टीडीपी को मात्र 23 सीटें मिली हैं. कुछ लोगों का दावा है कि किसी दिन अचानक बीजेपी ही विधानसभा मुख्य विपक्षी दल बन सकता है.

तेलंगाना
23 मई को संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में 17 सीटों में से 4 सीटें बीजेपी के खाते में गई. बीजेपी ने यहां के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी है.

तमिलनाडु
तमिलनाडु की राजनीति में जयललिता और एम करुणानिधि की गैरमौजूदगी में बीजेपी को लगता है कि अब उसके पास बड़ा मौका है.  ऐसे में वह स्थानीय नेताओं के संपर्क में है.

यह भी पढ़ें: सरकार बनाने के सवाल पर येदियुरप्पा बोले- क्या हम सन्यासी हैं
First published: July 7, 2019, 8:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...