कांग्रेस ने राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश और आर्थिक मामलों पर बनाए 3 पैनल, मनमोहन सिंह करेंगे अध्‍यक्षता

कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विदेश, अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा पर तीन समितियां गठित की हैं.

कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विदेश, अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा पर तीन समितियां गठित की हैं.

कांग्रेस पार्टी (Congress) में नेतृत्व परिवर्तन की मांग करते हुए पार्टी आलाकमान को पत्र लिखने वाले नेताओं को भी जगह दी गई है. शशि थरूर (Shashi Tharoor) और गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) जैसे नेता उन 23 नेताओं में शामिल थे, जिन्होंने पत्र लिखा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2020, 5:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस ने आर्थिक मामले, विदेश मामले और राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर पार्टी की नीतियों पर विचार के लिए तीन समितियों का गठन किया है, जिनकी अगुआई पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) करेंगे. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने इन समितियों का गठन किया है, जो विदेश, राष्ट्रीय सुरक्षा और आर्थिक मामलों को लेकर नीतियों और मुद्दों पर विचार कर उन्हें सूचित करेंगे.

इन समितियों में पी चिदंबरम (P Chidambaram), गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) दिग्विजय सिंह और कांग्रेस के कई अन्य वरिष्ठ नेता शामिल हैं. कांग्रेस आलाकमान की ओर से गठित आर्थिक मामले की कमेटी में डॉ. मनमोहम सिंह के साथ पी. चिदंबरम, मल्लिकार्जुन खड़गे, दिग्विजय सिंह और जयराम रमेश को रखा गया है. जयराम रमेश की भूमिका संयोजक (Convenor) की होगी. वहीं, विदेश मामलों पर गठित की गई कमेटी में डॉ. मनमोहन सिंह के साथ आनंद शर्मा, शशि थरूर, सलमान खुर्शीद और सप्तगिरी उलाका को रखा गया है. सप्तगिरी उलाका इस समिति के संयोजक होंगे.

ये भी पढ़ेंः सिब्बल बोले- कांग्रेस को अब विकल्प भी नहीं मानते लोग, आत्मनिरीक्षण की जरूरत

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस में कलह, खड़गे बोले- हाईकमान की आलोचना करने वाले पार्टी कर रहे कमजोर
राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों की कमेटी में डॉ. मनमोहन सिंह, गुलाम नबी आजाद, वीरप्पा मोइली, विंसेट एच. पाला और वी. वैथिलीन्गम को रखा गया है. यहां विंसेट एच. पाला संयोजक की भूमिका में होंगे.

Youtube Video


बता दें कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से इन समितियों का गठन तब किया गया है, जब बिहार विधानसभा चुनाव में राजद की अगुआई वाले गठबंधन की हार के बाद कपिल सिब्बल जैसे नेताओं ने पार्टी की जिम्मेदारी तय करने की मांग की थी, हालांकि अशोक गहलोत, सलमान खुर्शीद और भूपेश बघेल जैसे नेताओं ने कपिल सिब्बल पर पलटवार कर पार्टी के मामलों को मीडिया में ना ले जाने की सलाह दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज