लाइव टीवी

कांग्रेस का इशारा, अब दूसरे राज्यों में भी महाराष्ट्र मॉडल पर बनेगी सरकार

News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 9:38 AM IST
कांग्रेस का इशारा, अब दूसरे राज्यों में भी महाराष्ट्र मॉडल पर बनेगी सरकार
महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन की सरकार (NEWS18 CREATIVES)

कांग्रेस (Congress) के प्रवक्ता राजीव गौड़ा ने बुधवार को कहा कि बीजेपी (BJP) को रोकने के लिए भविष्य में देश के दूसरे राज्यों में भी महाराष्ट्र (Maharashtra) की तरह नए राजनीतिक समीकरण बन सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 9:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति में आज से एक नए युग की शुरुआत हो रही है. वो पार्टियां सरकार बनाने जा रही है जो पहले एक दूसरे के घोर विरोधी थे. लेकिन बीजेपी को सत्ता से बेदखल करने के लिए इन सबने आसपस में हाथ मिला लिया. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन के नेता  उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) आज शाम मुंबई के ऐतिहासिक शिवाजी पार्क (Shivaji Park) में शपथ लेंगे. अब सवाल उठता है कि क्या आने वाले दिनों में इस तरह के अजिबो गरीब गठबंधन दूसरों राज्यों में भी देखने को मिलेंगे.

नए राजनीतिक समीकरण के संकेत
कांग्रेस ने इस बात के संकेत दिए हैं कि आने वाले दिनो में दूसरे राज्यों में भी ऐसे गठबंधन देखने को मिल सकते हैं. कांग्रेंस का असली मकसद है बीजेपी को सत्ता से दूर रखना. कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि बीजेपी को रोकने के लिए भविष्य में देश के दूसरे राज्यों में भी महाराष्ट्र की तरह नए राजनीतिक समीकरण बन सकते हैं.

पार्टी प्रवक्ता राजीव गौड़ा ने संवाददाताओं से कहा, 'हमने पिछले कुछ वर्षों में देखा है कि बीजेपी ने दूसरे राजनीतिक दलों और अपने सहयोगियों तक को निशाना बनाया है. इसलिए हम देख रहे हैं कि देश में नए समूह बन रहे हैं. यह सब बहुत व्यवहारिक तरह से हो रहा है.'

महाराष्ट्र मॉडल के संकेत
उन्होंने महाराष्ट्र मॉडल के आगे प्रयोग के बारे में पूछे जाने पर कहा कि आप आगे व्यवहारिक गठबंधन देखेंगे. गौड़ा ने दावा किया, 'भाजपा की सरकार देश की सेहत और अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी नहीं है. इसलिए जरूरी है कि सभी दल मिलकर भाजपा को रोकें.' उन्होंने ये भी कहा, 'अभी ये दिखने लगा है कि भारत के नक्शे पर पर राजनीतिक तस्वीर बदल रही है. आप एक बार फिर से बिना किसी भाजपा शासित राज्य में जाये कन्याकुमारी से कश्मीर का सफर तय कर सकते हैं.'

बेमेल गठबंधन 
Loading...

बता दें कि ऐसा ही बेमेल गठबंधन जम्मू कश्मीर में देखने को मिला था. बेजीपी ने यहां पीडीपी से हाथ मिलाया और महबूबा मुफ्ती राज्य की मुख्यमंत्री बनी थी. सरकार बन तो गई, लेकिन दो साल बाद ही बीजेपी ने अपने रास्ते अलग कर लिए. उधर साल 2015 में बिहार में एक नए गठबंधन का उदय हुआ. एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले नीतीश कुमार की पार्टी और लालू प्रसाद यादव की पार्टी ने हाथ मिला लिया. सरकार भी बनी. लेकिन 2017 में अचानक ही नीतीश कुमार ने आरजेडी से गठबंधन तोड़ बीजेपी से हाथ मिलाकर फिर से सरकार बना ली.

(भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें:

देश में मुस्लिम नहीं हिंदू बिगाड़ते हैं शांति- राजीव धवन

श्रम कानून में हो सकता है बदलाव, हड़ताल से 14 दिन पहले देनी होगी जानकारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 9:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...