अपना शहर चुनें

States

कृषि कानूनः सोनिया गांधी ने विपक्षी नेताओं से की बात, संसद सत्र से पहले होगी रणनीतिक बैठक

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कृषि कानून पर साझा रणनीति बनाने के लिए विपक्ष के नेताओं से सोमवार को बात की.
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कृषि कानून पर साझा रणनीति बनाने के लिए विपक्ष के नेताओं से सोमवार को बात की.

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कृषि कानून पर साझा रणनीति बनाने के लिए विपक्ष के नेताओं से सोमवार को बात की. संसद सत्र से पहले विपक्ष की रणनीति बनाने के लिए सभी दल बैठक कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 10:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कृषि कानून पर साझा रणनीति बनाने के लिए विपक्ष के नेताओं से सोमवार को बात की. संसद सत्र से पहले विपक्ष की रणनीति बनाने के लिए सभी दल बैठक कर सकते हैं. बता दें कि संसद का बजट सत्र 29 जनवरी से शुरू होगा. बजट सत्र दो हिस्सों में होगा. पहला सेशन 29 जनवरी से शुरू होकर 15 फरवरी तक चलेगा. बजट सत्र का दूसरा भाग आठ मार्च को शुरू होकर आठ अप्रैल तक चलेगा. इस सत्र में 1 फरवरी को केंद्र सरकार अपना बजट पेश करेगी. सत्र के पहले दिन 29 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संसद के दोनों सदनों को संबोधित करेंगे.

बता दें कि मोदी सरकार के नए कृषि सुधार कानूनों (New Farm Laws) की वापसी को लेकर किसानों के आंदोलन का आज 47वां दिन है. नए कृषि कानून रद्द करने समेत किसान आंदोलन से जुड़ी दूसरी अर्जियों पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. चीफ जस्टिस एसए बोबडे (CJI SA Bobde) ने सरकार से कहा कि जिस तरह से प्रक्रिया चल रही है, उससे हम निराश हैं. हमें नहीं पता कि सरकार की किसानों से क्या बातचीत चल रही है. सीजेआई ने सरकार से दो टूक कहा कि आप कृषि कानूनों पर रोक लगाएंगे या हम कदम उठाएं? सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से कमेटी बनाने के लिए नाम मांगे हैं.





सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि कल तक नाम सौंप दिए जाएंगे. ऐसे में बिना आदेश पास किए ही आज की सुनवाई खत्म हो गई. नवंबर के आखिरी हफ्ते से ही केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली बॉर्डर पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों के प्रदर्शन को 1 महीने से ज्यादा का वक्त हो गया. लेकिन, सरकार के साथ आठ दौर की बातचीत के बावजूद भी अब मसले का हल नहीं निकल पाया है. उधर, कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी पार्टियां के किसानों की मांग का समर्थन कर रही हैं. ऐसे में बजट सत्र से पहले कृषि कानूनों पर विपक्ष की ये बैठक अहम हो जाती है.

दूसरी ओर कोरोना वायरस महामारी के चलते केंद्र सरकार ने संसद का शीतकालीन सत्र रद्द कर दिया था. सरकार के इस फैसले पर विपक्ष ने सवाल उठाए थे. अब जबकि संसद के बजट सत्र के आयोजन की घोषणा सरकार ने कर दी है, कांग्रेस की अंतरिक्ष अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विपक्षी नेताओं से बात कर साझा रणनीति बनाने पर जोर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज