‘मन की बात’ वीडियो को मिल रहे ‘डिस्लाइक’ के पीछे है कांग्रेस का हाथ: BJP

‘मन की बात’ वीडियो को मिल रहे ‘डिस्लाइक’ के पीछे है कांग्रेस का हाथ: BJP
भाजपा की आईटी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने यूट्यूब वीडियो पर डिस्लाइक को लेकर बीजेपी पर आरोप लगाया है (फाइल फोटो)

अमित मालवीय ने लिखा, ‘‘हमेशा की तरह बाकी 98 फीसद हिस्सा भारत से बाहर का है. विदेश से बॉट्स (Bots) और ट्विटर एकाउंट कांग्रेस के जेइई-नीट विरोधी अभियान (Anti JEE-NEET Campaign) का निरंतर हिस्सा रहे हैं. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के तुर्कीवाले बॉट्स की गतिविधि बहुत बढ़ गयी है."

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) कार्यक्रम के वीडियो को पार्टी द्वारा यूट्यूब (YouTube) पर पोस्ट किये जाने के बाद मिले ‘डिस्लाइक’ का 98 फीसद हिस्सा विदेश से है और उसने उसमें कांग्रेस (Congress) के शामिल होने का आरोप लगाया. भाजपा की आईटी विभाग (BJP IT Cell) के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट (Tweet) किया, ‘‘ पिछले 24 घंटे में यूट्यूब पर मन की बात वीडियो को डिस्लाइक करने का संगठित प्रयास किया गया.... कांग्रेस (Congress) का विश्वास इतना कम है कि वह एक तरह की जीत के रूप में इसका जश्न मना रही है. हालांकि, यूट्यूब के डाटा बताते हैं कि डिस्लाइक (dislike) का महज दो फीसद हिस्सा ही भारत से है.’’

उन्होंने लिखा, ‘‘हमेशा की तरह बाकी 98 फीसद हिस्सा भारत से बाहर का है. विदेश से बॉट्स (Bots) और ट्विटर एकाउंट कांग्रेस के जेइई-नीट विरोधी अभियान (Anti JEE-NEET Campaign) का निरंतर हिस्सा रहे हैं. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के तुर्कीवाले बॉट्स की गतिविधि बहुत बढ़ गयी है. यह तुर्की आसक्ति क्या है, राहुल?’’ प्रदेश इकाइयों (State units) और अन्य विभागों का प्रतिनिधित्व करने वाले कांग्रेस के कई हैंडल ने ‘मन की बात’ वीडियो को ‘डिस्लाइक’ (Dislike) करने का अभियान चलाया था.

छात्र चाहते थे परीक्षा पर चर्चा, खिलौने पर नहीं: राहुल गांधी
इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि छात्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में नीट और जेईई की परीक्षाओं के मुद्दे का समाधान चाहते थे, लेकिन उन्होंने खिलौने पर चर्चा की. आकाशवाणी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने ‘मन की बात’ संबोधन में कहा कि देश के पास खिलौना उद्योग का केंद्र बनने की प्रतिभा और क्षमता है. साथ ही, उन्होंने स्टार्ट-अप एवं नए उद्यमियों से खिलौना उद्योग से बड़े पैमाने पर जुड़ने की अपील की. इसके बाद, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष की यह टिप्पणी आई थी.
यह भी पढ़ें: संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर से, नायडू ने MPs की स्वास्थ्य सुरक्षा पर चर्चा की



‘‘मन_की_नहीं_छात्रों_की_बात’’ हैशटैग के साथ राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘जेईई-नीट के अभ्यर्थी प्रधानमंत्री से परीक्षा पर चर्चा की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन प्रधानमंत्री ने खिलौने पर चर्चा की.’’ राहुल और उनकी पार्टी (कांग्रेस) ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर नीट और जेईई की परीक्षाएं टालने की बड़ी संख्या में छात्रों की मांग का समर्थन किया है. ये परीक्षाएं एक सितंबर से शुरू हो रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज