लाइव टीवी
Elec-widget

कश्मीर मुद्दे पर संसद में केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी में गुलाम नबी आजाद, मसौदा तैयार

Ranjeeta Jha | News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 9:59 PM IST
कश्मीर मुद्दे पर संसद में केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी में गुलाम नबी आजाद, मसौदा तैयार
कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कश्‍मीर से लौटने के बाद केंद्र सरकार पर आरोप लगाया था कि जब वो लोगों से मिलते थे तो सरकार की एजेंसियां उनकी बातचीत रिकॉर्ड कर रही थीं. इससे लोग डर गए थे.

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और राज्‍यसभा (Rajya Sabha) में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने इस मामले को संसद (Parliament) में उठाने के लिए पूरा मसौदा (Draft) तैयार कर लिया है. इसमें वह कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) के हालात, यूरोपियन डेलिगेशन (European Delegation) का कश्मीर दौरा, जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को 5 अगस्त से बंदी बनाकर रखना जैसे मुद्दों को उठाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 9:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता ग़ुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) जम्‍मू-कश्‍मीर में यूरोपियन डेलिगेशन (European Delegation) के दौरे के मामले को लेकर केंद्र सरकार (Central Government) को घेरने की तैयारी कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, ग़ुलाम नबी आजाद ने यूरोपियन डेलिगेशन और जम्‍मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्‍छेद-370 (Article 370) के हटने के बाद पैदा हुए हालात पर राज्यसभा (Rajya Sabha) में नोटिस देने वाले हैं. हाल में यूरोप से आए सांसदों का डेलीगेशन कश्मीर गया था, जिसके बाद कांग्रेस (Congress) और खासतौर पर गुलाम नबी आजाद ने सरकार से सवाल पूछा था कि भारत के सांसद व विपक्षी पार्टियों के नेता तो सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की अनुमति लेकर जा रहे हैं, जबकि दूसरे देश के सांसदों को यहां बुलाकर संसद का अपमान किया जा रहा है.

आजाद को हर बार एयरपोर्ट से ही वापस दिल्‍ली लौटा दिया गया था
गुलाम नबी आजाद ने इस मामले को संसद (Parliament) में उठाने के लिए पूरा मसौदा (Draft) तैयार कर लिया है. इसमें वह कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) के हालात, यूरोपियन डेलिगेशन का कश्मीर दौरा, जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को 5 अगस्त से बंदी बनाकर रखना और बाकि बचे नेताओं पर पाबंदियां (Restrictions) लगाना जैसे मुद्दों को संसद में उठाने वाले है. इससे पहले गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर जाने की दो बार कोशिश की है. एक बार उन्हें जम्मू एयरपोर्ट (Jammu Airport) से वापस भेज दिया गया और दूसरी बार कश्मीर के एयरपोर्ट से ही दिल्ली रवाना कर दिया गया.

सुप्रीम कोर्ट ने विपक्षी दल के नेताओं को कश्‍मीर जाने की दी थी मंजूरी

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और विपक्षी पार्टियों के कई नेताओं (Opposition Leaders) को भी एयरपोर्ट से ही वापस दिल्ली भेज दिया गया था. इसके बाद गुलाम नबी आजाद ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. शीर्ष अदालत ने उन्हें कश्मीर जाने की मंजूरी दी. कश्मीर से लौटने के बाद आजाद ने सरकार पर आरोप लगाया कि जब वो लोगों से मिलते थे तो सरकार की एजेंसियां (Central Agencies) उनकी बातचीत को कैमरे में रिकॉर्ड कर रही थीं. कश्मीर के लोग डर की वजह से दिल की बात नहीं कर पा रहे थे. अब संसद के शीतकालीन सत्र में गुलाम नबी आजाद ने सरकार को घेरने की तैयारी कर ली है.

ये भी पढ़ें:

क्‍या अमूमन शांत दिखने वाले उद्धव ठाकरे सियासी विरोधियों को कर पाएंगे परास्‍त?
Loading...

वामपंथी नेता ने कहा- माओवादियों की मदद कर रहे मुस्लिम आतंकी

सुप्रीम कोर्ट मराठा आरक्षण पर अब जनवरी, 2020 में करेगा सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 6:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...