गुलाम नबी आजाद को जम्मू एयरपोर्ट पर रोका गया, वापस दिल्ली भेजा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) को मंगलवार को जम्मू हवाई अड्डे (Jammu Airport) पर रोक दिया गया और उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया गया.

भाषा
Updated: August 20, 2019, 7:07 PM IST
गुलाम नबी आजाद को जम्मू एयरपोर्ट पर रोका गया, वापस दिल्ली भेजा
हाल के दिनों में यह दूसरा मौका है जब आजाद को जम्मू कश्मीर में प्रवेश करने से रोका गया है. (Photo-PTI)
भाषा
Updated: August 20, 2019, 7:07 PM IST
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) को मंगलवार को जम्मू हवाई अड्डे (Jammu Airport) पर रोक दिया गया और उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया गया. हाल के दिनों में यह दूसरा मौका है जब आजाद को जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में प्रवेश करने से रोका गया है.

प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रवींद्र शर्मा (Ravindra Sharma) ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘आजाद साहब दोपहर दो बजकर 45 मिनट पर दिल्ली से (जम्मू) पहुंचे और उन्हें हवाई अड्डे से बाहर नहीं निकलने दिया गया. शाम चार बजकर 10 मिनट पर उन्हें वापसी की उड़ान से दिल्ली भेज दिया गया.’’

एयरपोर्ट से बाहर निकलने की नहीं मिली इजाज़त
आजाद के करीबी सहयोगियों ने बताया कि जम्मू हवाई अड्डे पर उतरने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता को हवाई अड्डे से बाहर नहीं निकलने दिया गया. वह प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक में शामिल होने वाले थे.

कांग्रेस नेता गोएयर की उड़ान से शाम को दिल्ली के लिए रवाना हुए. इससे पहले, केंद्र द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के मद्देनजर प्रशासन द्वारा लगाई गई पाबंदियों के बाद आठ अगस्त को आजाद को कुछ समय के लिए रोका गया था और श्रीनगर हवाई अड्डे से वापस भेज दिया था.

शर्मा ने कहा, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्हें (आजाद) पिछले दो हफ्ते में अपने गृह राज्य जाने की अनुमति नहीं दी गई. वह जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री हैं. राज्य से राज्यसभा के सदस्य हैं और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं.’’

लोगों से बातचीत करने जा रहे थे आज़ाद
Loading...

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अनुच्छेद 370 (Article 370) की कई प्रावधान खत्म करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के कदम से पैदा हुए हालात की पृष्ठभूमि में लोगों से बातचीत करने कश्मीर जा रहे थे. उन्होंने दावा किया, ‘‘उनको जाने की इजाजत नहीं देना दिखाता है कि किस तरह मुख्यधारा की राष्ट्रीय पार्टी को मौजूदा हालात के बारे में बात करने और चर्चा करने की अनुमति नहीं दी जा रही.’’

रविंद्र शर्मा ने कहा कि कांग्रेस और उसके नेता ‘‘गड़बड़ी फैलाने’’ वाले नहीं हैं कि राज्य इस तरह का बर्ताव कर रहा है.

ये भी पढ़ें-

चिदंबरम को झटका, अग्रिम जमानत याचिका पर SC में सुनवाई कल

लाल चौक से हटाए गए बैरिकेड, बुधवार से खुलेंगे मिडिल स्कूल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 6:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...