Assembly Banner 2021

राहुल के विवादित बयान पर इशारों में सिब्बल की नसीहत- मतदाताओं का सम्मान करना चाहिए

कपिल सिब्बल ने नसीहत दी है. (फाइल फोटो)

कपिल सिब्बल ने नसीहत दी है. (फाइल फोटो)

कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने कहा है कि हमें मतदाताओं का सम्मान करना चाहिए और उनकी बुद्धिमत्ता का अपमान नहीं करना चाहिए. हालांकि सिब्बल ने यह भी कहा, 'मैं राहुल गांधी के बयान पर कमेंट करने वाला कौन हूं? उन्होंने कहा है और वो ही जानते होंगे कि किस संदर्भ में कहा.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 8:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केरल में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के विवादित बयान पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि हमें मतदाताओं का सम्मान करना चाहिए और उनकी बुद्धिमत्ता का अपमान नहीं करना चाहिए. हालांकि सिब्बल ने यह भी कहा, 'मैं राहुल गांधी के बयान पर कमेंट करने वाला कौन हूं? उन्होंने कहा है और वो ही जानते होंगे कि किस संदर्भ में कहा.'

दरअसल राहुल गांधी मंगलवार को केरल में थे और एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, '15 साल उत्तर भारत में सांसद रहने के बाद केरल के वायनाड से संसद पहुंचना, उनके लिए ताजी हवा के झोंके की तरह था.' उन्होंने कहा, 'अमेरिका में मैं कुछ छात्रों से बात कर रहा था और मैंने कहा कि केरल जाना मुझे अच्छा लगता है. ये केवल आपके प्यार की वजह से नहीं, बल्कि जिस तरह की राजनीति आप करते हैं. अगर मैं कहूं कि आपकी बुद्धिमत्ता, जिसके जरिए आप राजनीति करते हैं. अब तक मेरे लिए यह सीखने और आनंद उठाने वाला सफर रहा है.'

'मेरे लिए केरल आना अचानक एक ताजी हवा की तरह था'
कांग्रेस सांसद ने आगे कहा, 'पहले 15 साल मैं उत्तर भारत से सांसद रहा. ऐसे में मेरे वास्ता दूसरे तरह की राजनीति से पड़ता था. मेरे लिए केरल आना अचानक एक ताजी हवा की तरह था. यहां के लोग मुद्दों में दिलचस्पी रखते हैं, केवल नाममात्र के लिए नहीं, बल्कि मुद्दे की जड़ तक जाते हैं.' कांग्रेस नेता राहुल गांधी के इस बयान के बाद बीजेपी नेताओं ने उनके खिलाफ ट्विटर पर अभियान छेड़ दिया और उन्हें विभाजित मानसिकता वाला व्यक्ति करार दिया.
केंद्रीय मंत्री ने साधा निशाना


केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राहुल पर निशाना साधते हुए लिखा, 'वो आदमी जो अपनी लोकसभा सीट बचाने के लिए केरल भाग गया, वो उत्तर भारतीयों की बुद्धि पर सवाल उठा रहा है, साथ ही उन लोगों पर भी जिन्होंने पीढ़ियों तक उसके परिवार को वोट दिया. तथ्य ये है कि काम न करने और विकास के अभाव में उसे भागने के लिए मजबूर होना पड़ा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज