लाइव टीवी

दशरथ के महल में 10 हजार कमरे थे, किसमें पैदा हुए थे भगवान राम: मणिशंकर अय्यर

News18India
Updated: January 8, 2019, 12:38 PM IST

राम मंदिर निर्माण की मांग पर मणिशंकर अय्यर ने कहा कि यह बात समझ के बाहर है कि मंदिर वहीं बनाने की जिद क्यों की जा रही है?

  • News18India
  • Last Updated: January 8, 2019, 12:38 PM IST
  • Share this:
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है. इस बार राम मंदिर मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने हिंदूवादी संगठनों के भगवान राम के जन्म लेने की जगह के दावों पर सवाल उठा दिया.

राम मंदिर बनाए जाने के संबंध में वह कहते हैं कि ये बात समझ के बाहर है कि मंदिर वहीं बनाने की जिद क्यों है. मंदिर आप उस जगह के अलावा और कहीं बना सकते हैं.

अय्यर ने कहा, "दशरथ के महल में बहुत सारे कमरे थे. कहा जाता है कि उनके महल में 10 हजार कमरे थे. आप कैसे पुख्ता तौर पर कह सकते हैं कि भगवान राम किस कमरे में पैदा हुए थे."



6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराए जाने पर कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में से एक मणिशंकर अय्यर ने अपनी ही पार्टी और उस समय की नरसिंहराव सरकार पर सवाल उठा दिए. दिल्ली में आयोजित 'एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम' कार्यक्रम में मणिशंकर अय्यर ने उस घटना का जिक्र करते हुए उसे रोकने में नाकाम रहने पर तब की नरसिम्हा राव सरकार को घेर लिया.



विवादित बयानों से मणिशंकर अय्यर का पुराना नाता रहा है. गुजरात चुनावों के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ मणिशंकर अय्यर ने विवादित बयानबाजी की थी. इसकी निंदा खुद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने की थी. इसके लिए कांग्रेस ने उन्हें निलंबित कर दिया था.n बाद में कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर का निलंबन वापस ले लिया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 8, 2019, 8:37 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर