लाइव टीवी

कश्मीर पर जिनपिंग के बयान से भड़की कांग्रेस, कहा- भारत भी करे हांगकांग-तिब्बत की बात

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 11:27 AM IST
कश्मीर पर जिनपिंग के बयान से भड़की कांग्रेस, कहा- भारत भी करे हांगकांग-तिब्बत की बात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी (Manish tewari) ने कहा, ‘अगर चीन के राष्ट्रपति कह रहे हैं कि उनकी नजर कश्मीर पर है, तो प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) और विदेश मंत्रालय क्यों नहीं कहता कि भारत हांगकांग में हो रहे लोकतंत्र को लेकर प्रदर्शन को देख रहा है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 11:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (xi jinping) ने भारत (India) दौरे से पहले कहा कि उनकी कश्मीर (Kashmir) की स्थिति पर नजर है और वह जम्मू-कश्मीर पर यूएन (UN) के नियमों का पालन करेंगे. जिनपिंग ने ये बात पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के साथ बीजिंग में बैठक के दौरान कही. जिनपिंग के इस बयान पर कांग्रेस (Congress) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी (Manish Tewari) ने केंद्र सरकार से सवाल किया कि क्यों नहीं, भारत चीन से तिब्बत, हांगकांग के मुद्दे पर बात करता है?

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी (Manish Tewari) ने गुरुवार को ट्वीट किया, ‘अगर चीन के राष्ट्रपति कह रहे हैं कि उनकी नजर जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पर है, तो प्रधानमंत्री मोदी (Pm Modi) और विदेश मंत्रालय क्यों नहीं कहता कि भारत हांगकांग में हो रहे लोकतंत्र को लेकर प्रदर्शन को देख रहा है. शिंजियांग में हो रहे मानवाधिकार के उल्लंघन, तिब्बत और साउथ चाइना में चीन के दखल पर भारत नजर बनाए हुए है.’



चीन ने पाकिस्तान को दिया था झटका
Loading...

इसके पहले मंगलवार को चीन ने इमरान खान को कश्मीर मसले पर झटका दिया था. इमरान खान की राष्ट्रपति शी जिनपिंग (President Xi Jinping) की मुलाकात से पहले बीजिंग ने कहा कि कश्मीर के मुद्दे का समाधान भारत और पाकिस्तान को आपसी बातचीत से निकालना होगा. चीन ने संयुक्त राष्ट्र और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अपने हालिया संदर्भों को छोड़ते हुए यह बात कही. हालांकि, बुधवार को जिनपिंग ने एक बार फिर पाकिस्तान के पक्ष में पलटी मारी.

कश्मीर पर नहीं होगी मोदी-शी की बातचीत
इससे पहले बुधवार को भारत सरकार के सूत्रों ने बताया कि पीएम मोदी और शी जिनपिंग के साथ होने वाली बैठक में कश्मीर मुद्दे पर कोई बात नहीं होगी. लेकिन अगर चीन के राष्ट्रपति इस मुद्दे को उठाते हैं तो इस पर चर्चा हो सकती है.

लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसके पीछे की वजह भारत सरकार ने उन्हें बता दी है. वहां के आम लोगों की ऐसी ही इच्छा थी. हमारा मानना है कि हम एक निश्चित सीमा क्षेत्र में दावा करते हैं. LAC के संबंध में चीन की अपनी धारणा है. केंद्रशासित प्रदेश को लेकर कोई भी विचार नहीं बदले हैं, यह 31 अक्टूबर से प्रभावी होगा.

भारत आने वाले हैं चीन के राष्ट्रपति
बता दें कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग 11 और 12 अक्टूबर को भारत दौरे पर आ रहे हैं. ये उनका अनौपचारिक दौरा होगा. इस दौरान चेन्नई में शी जिनपिंग और पीएम मोदी की मुलाकात होगी.

यह भी पढ़ें- 

कश्मीर पर इमरान से बोले जिनपिंग-PAK के हितों का रखेंगे ध्यान- रिपोर्ट
उइगर मुस्लिमों का मुद्दा गरमाया: अमेरिका ने चीनी अधिकारियों पर वीजा बैन लगाया
ट्रंप से कम नहीं चीनी प्रेसिडेंट जिनपिंग की सुरक्षा, कार है बहुत खास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 11:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...