मनीष तिवारी ने पूछा- क्या कांग्रेस की हार के लिए UPA जिम्मेदार? पूछे यह चार सवाल

मनीष तिवारी ने पूछा- क्या कांग्रेस की हार के लिए UPA जिम्मेदार? पूछे यह चार सवाल
कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने यूपीए पर सवाल उठाए

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी (Manish Tewari) ने चार सवालों के जरिए अपनी अगुवाई वाले गठबंधन पर सवाल खड़े किए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 8:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के करीबी राजीव सातव द्वारा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन यानी यूपीए (UPA )को साल 2014 की हार का जिम्मेदार ठहराने के अगले दिन एक और पार्टी नेता ने सवालों की झड़ी लगा दी है. पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने चार सवालों के जरिए अपनी अगुवाई वाले गठबंधन पर सवाल खड़े किए हैं.

तिवारी ने राजीव सातव का समर्थन करते हुए पूछा- क्या साल 2014 में कांग्रेस की हार के लिए यूपीए जिम्मेदार है? इस सवाल का जवाब दिया जाना चाहिए.  उन्होंने लिखा कि यूपीएम को भीतरघात का नुकसान उठाना पड़ा. तिवारी ने कहा कि साल 2019 में हुई हार पर आत्मचिंतन जरूरी है. कहा कि बीते 6 साल में सवाल सिर्फ कांग्रेस पर उठे ना कि यूपीए पर.

'फर्जी थी 2G पर रिपोर्ट'
तिवारी ने कहा कि 'यूपीए में पूर्व सीएजी विनोद राय और उनके द्वारा 2जी पर दी गई फर्जी रिपोर्ट से भीतरघात की शुरुआत हुई. तिवारी ने कहा, यह जानना दिलचस्प होगा कि रिपोर्ट फर्जी थी लेकिन उसे किसने स्थापित किया था.'
तिवारी का यह दावा पार्टी के पदाधिकारियों के बीच टकराव के बाद आया. एक बैठक में जब यह सवाल उठा  कि लोगों के साथ कांग्रेस की लोकप्रियता में लगातार गिरावट के पीछे क्या वजह थी, इस पर युवा सांसद राजीव सातव ने कहा कि किसी भी समीक्षा के लिए  यूपीए -2 में वापस जाना होगा. उन्होंने तर्क दिया कि कांग्रेस की अगुवाई वाली सरकार के प्रदर्शन और 2009 के बाद संगठन की उपेक्षा ने पार्टी को उन नकारात्मक चीजों से भर दिया.



अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार तिवारी ने कहा कि  यूपीए द्वारा किे गए फैसलों से सामाजिक क्षेत्र में चौतरफा परिवर्तन हुए जिसने गरीबों के उत्थान में मदद की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading