Assembly Banner 2021

पीसी चाको का इस्तीफा: कांग्रेस नेता बोले- बहुत देर कर दी हुजूर.., आनंद शर्मा ने कहा, जिन्हें जाना है वो जाएंगे

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने पार्टी को अलविदा कह दिया है (File Photo)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने पार्टी को अलविदा कह दिया है (File Photo)

PC Chako Resignation: पिछले साल हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय चाको कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी थे. उस चुनाव में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल सका था और ज्यादातर सीटों पर पार्टी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता पवन खेड़ा (Congress Leader Pawan Khera) ने पार्टी के वरिष्ठ नेता पी सी चाको (PC Chacko) के कांग्रेस छोड़ने को लेकर बुधवार को कटाक्ष करते हुए कहा कि दिल्ली में प्रभारी रहते हुए गुटबाजी को बढ़ावा देने वाले व्यक्ति ने पार्टी से जाने में बहुत देर कर दी. उन्होंने चाको के एक बयान को लेकर ट्वीट किया, ‘‘ यह बात वह व्यक्ति कहता है जिसने दिल्ली में गुटबाजी को सक्रियता के साथ प्रोत्साहित किया और बढ़ावा दिया. बहुत देर कर दी हुजूर जाते जाते.’’ वहीं कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने चाको के पार्टी छोड़ने पर कहा कि राजनीतिक पार्टियों में ऐसा होता रहता है. शर्मा ने कहा कि "जिन्हें छोड़कर जाना है वह जाएंगे, राजनीतिक पार्टियों में ऐसा होता है. लेकिन कांग्रेस दिखाएगी कि कैसे एकजुटता से चुनाव लड़ा जाता है. यही कांग्रेस का प्रयास होगा."

बता दें चुनावी राज्य केरल में कांग्रेस को झटका देते हुए वरिष्ठ नेता पी सी चाको ने बुधवार को पार्टी से इस्तीफा देने की घोषणा करते हुए आरोप लगाया कि विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवार तय करने में गुटबाजी हावी रही. संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए चाको ने कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेजेंगे.

Youtube Video




ये भी पढ़ें- टेरिटोरियल आर्मी में कैप्टन बने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, देखिए VIDEO
चाको ने आरोप लगाया कि केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवारों का चयन दो समूहों ने अलोकतांत्रिक तरीके से किया. इसमें एक ‘ए’ समूह का नेतृत्व ओमन चांडी और ‘आई’ समूह का नेतृत्व रमेश चेन्नीतला कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि दोनों समूह दिवंगत नेता के करूणाकरन और वरिष्ठ नेता ए के एंटनी के समय से ही सक्रिय है. ‘ए’ समूह का नेतृत्व एंटनी करते थे और ‘आई’ समूह का नेतृत्व करूणाकरन करते थे.

चाको ने अपने इस्तीफे को कांग्रेस के लिए आंखे खोलने वाला कदम बताते हुए कहा कि वह केरल कांग्रेस के काम से नाखुश हैं और वहां कांग्रेस कमजोर होती जा रही है. चाको ने कहा कि वह लंबे समय से कांग्रेस छोड़ने पर विचार कर रहे थे.

ये भी पढ़ें- क्या है वैक्सीन पासपोर्ट, आखिर क्यों हर ट्रैवलर को पड़ने वाली है इसकी जरूरत



उल्लेखनीय है कि पिछले साल हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय चाको कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी थे. उस चुनाव में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल सका था और ज्यादातर सीटों पर पार्टी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई. इस चुनाव के बाद ही चाको ने प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया था.



(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज