Assembly Banner 2021

विधानसभा चुनावः केरल में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा का रोड शो, वोट मांगे

अलप्पुझा जिले के कयमकुलम में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने रोड शो किया

अलप्पुझा जिले के कयमकुलम में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने रोड शो किया

अलप्पुझा जिले के कयमकुलम में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने रोड शो किया और पार्टी उम्मीदवार के लिए वोट मांगे. प्रियंका वेंजरामूडू में जनसभा को संबोधित करेंगी और तटीय स्थल पूनथुरा समेत विभिन्न स्थानों पर रोड शो करेंगी. वह वलियाथुरा में भी एक जनसभा को संबोधित करेंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 30, 2021, 6:08 PM IST
  • Share this:
कयमकुलम (केरल). कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को प्रचार अभियान शुरू करते हुए अलप्पुझा जिले के कयमकुलम में रोड शो किया और पार्टी उम्मीदवार के लिए वोट मांगे.

कयमकुलम से कांग्रेस उम्मीदवार अरिता बाबू के साथ वाहन में सवार प्रियंका ने सड़क के दोनों ओर खड़े लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया और कई लोगों से हाथ भी मिलाया. छब्बीस साल की अरिता बाबू केरल विधानसभा चुनाव में सबसे कम उम्र की उम्मीदवार हैं. उनका मुकाबला माकपा की मौजूदा विधायक यू प्रतिभा हरि तथा भाजपा उम्मीदवार प्रदीप लाल से होगा.

ये भी पढ़ें :-UP Gold Rate Today, 30 March: होली बाद सोना-चांदी की कीमतों में गिरावट, जानिए अपने शहर के रेट



प्रियंका करुनागपल्ली में जनसभा को संबोधित करेंगी और कोट्टरक्कारा तथा कोल्लम में रोड शो करेंगी. इसके बाद वह पड़ोसी जिले तिरुवनंतपुरम के लिए रवाना हो जाएंगी, जहां वह वेंजरामूडू में जनसभा को संबोधित करेंगी और तटीय स्थल पूनथुरा समेत विभिन्न स्थानों पर रोड शो करेंगी. वह वलियाथुरा में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगी.
ये भी पढ़ें : राजस्थान विधानसभा उपचुनाव: 'वोटर हेल्पलाइन' ऐप से एक टच में मिलेगी मतदाता को सभी जानकारियां, जानिये कैसे

केरल विधानसभा की सभी 140 विधानसभा सीटों पर 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. केरल में एक ही चरण में चुनाव कराए जा रहे हैं. विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तिथि 19 मार्च थी. 20 मार्च को नामांकन पत्रों की जांच की गई. नाम वापस लेने की आखिरी तिथि 22 मार्च थी. सभी सीटों पर वोटों की गिनती 2 मई 2021 को की जाएगी. केरल में कांग्रेस की अगुआई वाले यूडीएफ गठबंधन और वामदलों की अगुआई वाले एलडीफ गठबंधन के बीच सीधी लड़ाई है.

पश्चिम बंगाल में लेफ्ट के साथ गठबंधन वाली कांग्रेस का 'केरल संकट'
कांग्रेस के लिए इधर कुआं और उधर खाई जैसे हालात हैं. कांग्रेस पश्चिम बंगाल में लेफ्ट के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है. जबकि केरल में वो वाममोर्चा के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं. ऐसे में उन्हें लग रहा है कि लेफ्ट के साथ प्रचार करने पर केरल में उनकी चुनौती कमज़ोर हो सकती है. लिहाजा पार्टी केरल में मतदान तक बंगाल में प्रचार से परहेज कर रही है. ऐसे में राहुल गांधी अभी तक चुनाव प्रचार में नहीं उतरे हैं. जबकि वो केरल और असम में लगातार चुनाव प्रचार कर रहे हैं. कांग्रेस को लग रहा है कि अगर बंगाल में वो लेफ्ट के साथ एक मंच पर दिखाई देंगे, तो इसका केरल में अच्छा संदेश नहीं जाएगा. एक सवाल ये भी है कि बंगाल के मंच पर लेफ्ट की तारीफ कर केरल के मंच पर लेफ्ट को किस तरह से घेरा जा सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज