लाइव टीवी

नागरिकता बिल का शिवसेना ने किया सपोर्ट, राहुल ने कहा- ये भारत की बुनियाद को खत्म करने की कोशिश

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 3:05 PM IST
नागरिकता बिल का शिवसेना ने किया सपोर्ट, राहुल ने कहा- ये भारत की बुनियाद को खत्म करने की कोशिश
राहुल गांधी

लोकसभा ने सोमवार रात नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) को मंजूरी दे दी, जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 3:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) सोमवार को लंबी बहस के बाद आखिकार लोकसभा से पास हो गया. पहले नागरिकता संशोधन बिल का विरोध कर रही शिवसेना और जेडीयू ने भी लोकसभा में इस बिल के समर्थन में वोट दिया. वहीं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन करना भारत की बुनियाद को नष्ट करने की कोशिश होगी. राहुल का ये बयान ऐसे समय पर आया है, जब महाराष्ट्र में कांग्रेस शिवसेना-एनसीपी के साथ गठबंधन सरकार में है. उनके इस बयान से ऐसी अटकलों को एक बार फिर से बल मिल गया है कि राहुल गांधी महाराष्ट्र में कांग्रेस के शिवसेना के साथ जाने का समर्थन नहीं करते.

केरल के वायानाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'नागरिकता संशोधन विधेयक संविधान पर हमला है, जो कोई भी इसका समर्थन करता है वो हमारे देश की बुनियाद पर हमला और इसे नष्ट करने का प्रयास कर रहा है.’ माना जा रहा है कि राहुल गांधी ने ये कहकर शिवसेना पर भी तंज कसे हैं, क्योंकि शिवसेना ने इस बिल को राष्ट्र हित में बताया है.

बता दें कि शिवसेना ने पहले अपने मुख्यपत्र सामना में नागरिकता संशोधन बिल को देश को बांटने वाला बताया था. हालांकि, सोमवार को लोकसभा में वोटिंग के दौरान शिवसेना ने नागरिकता संशोधन बिल के समर्थन में वोट डाला. इसपर सवाल पूछे जाने पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, 'लोकसभा में जो हुआ, उसे भूल जाइए. हम राज्यसभा में अपना स्टैंड लेंगे.' बुधवार को मोदी सरकार नागरिकता संशोधन बिल को राज्यसभा में पेश करेगी. वहीं, महाराष्ट्र सीएम और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का कहना है कि जब तक सरकार शिवसेना के सभी सवालों का जवाब नहीं देती, तब तक इस बिल का समर्थन नहीं किया जाएगा.

प्रियंका गांधी ने कही ये बात
राहुल गांधी के अलावा उनकी बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर सरकार पर कट्टरता का आरोप लगाया है. प्रियंका ने इस बिल को लेकर दो ट्वीट किए. पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा- 'बीती रात लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने के साथ भारत कट्टरता और संकुचित विचारों वाले अलगाव से भारत के वादे की पुष्टि हुई. हमारे पूर्वजों ने हमारी स्वतंत्रता के लिए अपने प्राण दिए. उस स्वतत्रंता में समता का अधिकार और धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार निहित है.’



प्रियंका ने एक और ट्वीट किया- 'हम सरकार के उस एजेंडे के खिलाफ लड़ेंगे जो हमारे संविधान को व्यवस्थित ढंग से खत्म कर रहा है. साथ ही उस बुनियाद को खोखला कर रहा है जिस पर हमारे देश की नींव पड़ी.’



गौरतलब है कि लोकसभा ने सोमवार रात नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी, जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है. (PTI इनपुट)

ये भी पढ़ें: नागरिकता संशोधन विधेयक: JDU बोली- धर्मनिरपेक्षता को मजबूत करने वाला बिल

नागरिकता संशोधन विधेयक से जुड़ी दस खास बातें, क्यों ये शुरू से विवादों में रहा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 1:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर