राहुल गांधी बोले- कोरोना संकट के समय ‘गुजरात मॉडल’ हो गया बेनकाब

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी  (Rahul Gandhi) ने गुजरात की तुलना कांग्रेस शासित प्रदेशों से करते हुए ट्वीट किया और कहा कि ‘गुजरात मॉडल बेनकाब हो गया है.
कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने गुजरात की तुलना कांग्रेस शासित प्रदेशों से करते हुए ट्वीट किया और कहा कि ‘गुजरात मॉडल बेनकाब हो गया है.

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने गुजरात की तुलना कांग्रेस शासित प्रदेशों से करते हुए ट्वीट किया और कहा कि ‘गुजरात मॉडल' बेनकाब हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 16, 2020, 12:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी  (Rahul Gandhi) ने गुजरात में कोरोना वायरस (Gujarat) के मामलों में दूसरे राज्यों के मुकाबले मृत्यु दर ज्यादा होने को लेकर मंगलवार को दावा किया कि संकट के इस समय में ‘गुजरात मॉडल’ (Gujarat Model) बेनकाब हो गया है.

उन्होंने गुजरात की तुलना कांग्रेस शासित प्रदेशों से करते हुए ट्वीट किया, ‘‘कोरोना वायरस के मामलों में मृत्यु दर गुजरात में 6.25 फीसदी, महाराष्ट्र में 3.73 फीसदी, राजस्थान में 2.32 फीसदी, पंजाब में 2.17 फीसदी, पुडुचेरी में 1.98 फीसदी, झारखंड में 0.5 फीसदी और छत्तीसगढ़ में 0.35 फीसदी है.’’ कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘गुजरात मॉडल बेनकाब हो गया है.’

गुजरात के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य में सोमवार को कोरोना वायरस के 514 नए मामले आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 24,104 हो गई. वहीं, कोरोना वायरस से 28 और लोगों की मौत होने के साथ राज्य में अब तक कुल 1,506 लोग इस महामारी में अपनी जान गंवा चुके हैं.



देश में मंगलवार को 10,667 नए मामले
वहीं देश में कोविड-19 के 10,000 से अधिक नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 3,43,091 हो गए. वहीं 380 और लोगों के जान गंवाने के बाद मरने वालों की संख्या 9,900 हो गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 10,667 नए मामले सामने आए हैं.

मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार देश में अभी 1,53,178 लोगों का इलाज चल रहा है जबकि 1,80,012 लोग ठीक हो चुके हैं. अधिकारी ने कहा, ‘अभी तक मरीजों के ठीक होने की दर 52.46 प्रतिशत के करीब है.’

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार पर निशाना साधा
इससे पहले राहुल गांधी ने पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया था कि सांठगांठ वाले पूंजीपतियों (क्रोनी कैपिटलिस्ट) के तोहफे के लिए मध्य वर्ग और गरीबों को भुगतान करना पड़ रहा है.

उन्होंने ट्विटर पर एक ग्राफ भी शेयर किया था जिसमें दिखाया गया था कि मई, 2014 में कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा होने के बावजूद पेट्रोल की कीमत करीब 71 रुपये प्रति लीटर थी, जबकि वर्तमान में कच्चे तेल की कीमत 40 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई है, लेकिन पेट्रोल 76 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है.

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया था कि सांठगांठ वाले पूंजीपतियों को तोहफा मिले, इसके लिए मध्य वर्ग और गरीबों को भुगतान करना पड़ रहा है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें:- पेट्रोल की कीमत पर सोनिया की PM को चिट्ठी, कहा- ऐसे आत्मनिर्भर नहीं बनेगा देश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज