अपना शहर चुनें

States

वायनाड में बोले राहुल गांधी- सारे किसान नहीं जानते कृषि कानून वरना देश में आग लग जाएगी

वायनाड में बोले राहुल गांधी, किसान नहीं जानते कृषि कानून.
वायनाड में बोले राहुल गांधी, किसान नहीं जानते कृषि कानून.

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष और नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इससे पहले एक ट्वीट करते हुए कहा कि मोदी सरकार का शासन काल दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने का एक सबक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 4:44 PM IST
  • Share this:
वायनाड. कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड (Wayanad) के दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी ने एक बार फिर सरकार से कृषि कानूनों (Agricultural Law) को वापस लेने की मांग की है. तीनों कृषि कानूनों की मुखालफत करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, 'सच्चाई ये है कि अभी भी बहुत से किसान इस विधेयक (Bill) के विवरण को नहीं समझते हैं. जिस दिन पूरे देश के किसान इस कृषि कानून को समझ गए. उस दिन पूरे देश में आंदोलन होगा, देश में आग लग जाएगी.'

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इससे पहले एक ट्वीट करते हुए कहा कि मोदी सरकार का शासन काल दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने का एक सबक है. उन्‍होंने कहा कि आप सभी आज जिस तरह की देश में स्थिति है उसे जानते हैं. हर किसी को पता है कि इन दिनों देश में क्या चल रहा है. भारत 2-3 बड़े व्यापारियों के हित में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा चलाया जा रहा है.

Congress, Rahul Gandhi, Wayanad, Bill, kisan andolan, Agricultural Law, farmers protest




राहुल गांधी ने कहा कि हर एक उद्योग पर 3 से 4 लोगों का एकाधिकार हो गया है. उन्‍होंने कहा कि कुछ साल पहले भट्टा पारसोल में किसानों पर हमला करने की कोशिश की गई थी. उस वक्‍त किसानों की जमीनें छीनी जा रही थीं. मुझे इस बात का एहसास था कि यह एक बड़ी समस्या थी. मैंने इस समस्या के बारे में पार्टी के अंदर बातचीत शुरू की, इसके बाद नया भूमि अधिग्रहण बिल आया था.

इसे भी पढ़ें :- बजट सत्र से पहले राहुल गांधी का तंज- तेजी से बढ़ रही इकॉनमी को कैसे बर्बाद करें, इस सरकार से लें इसकी सीख

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया था कि आरएसस नफरत फैला रहा है और देश की अर्थव्यवस्था के ‘ध्वस्त होने’ के लिए जिम्मेदार है. उन्होंने कहा था, 'आपको पता है कि प्रधानमंत्री मोदी देश के ताने-बाने को नुकसान पहुंचा रहे हैं. पहली बार चीनी सैनिक भारत की सीमा के अंदर बैठे हुए हैं. हमारी अर्थव्यवस्था जो कभी दुनिया में सबसे अच्छा कर रही थी, वो अब ध्वस्त हो चुकी है. हमारे नौजवानों को नौकरियां नहीं मिल सकतीं. यह सब आरएसएस की विचारधारा का नतीजा है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज