लाइव टीवी

शिवसेना से राहुल गांधी ने बनाई दूरी, उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण में नहीं होंगे शामिल- सूत्र

News18Hindi
Updated: November 27, 2019, 11:36 AM IST
शिवसेना से राहुल गांधी ने बनाई दूरी, उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण में नहीं होंगे शामिल- सूत्र
कांग्रेस (Congress) की केरल इकाई ने भी महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ जाने का विरोध किया था.

कांग्रेस (Congress) के आंतरिक संगठन के कामकाज से लगभग दूरी बना चुके राहुल गांधी (Rahul gandhi), उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray ) के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 11:36 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस (Congress) और एनसीपी मिलकर सरकार बना रही है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे कल यानी 28 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. इस बीच खबर है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul gandhi) नई सरकार के शपथ ग्रहण में शामिल नहीं होंगे.

बीते दिनों जब शिवसेना के साथ कांग्रेस के गठबंधन बनाने की बात चल रही थी तब उस वक्त भी राहुल गांधी दूर थे. इतना ही नहीं कांग्रेस की केरल (Kerala) इकाई ने भी शिवसेना के साथ सरकार बनाने पर आपत्ति जताई थी. ऐसे में वायनाड (Wayanad) से सांसद राहुल गांधी के शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहने उनकी असहमति की खबर को बल जरूर मिलता है.

शिवसेना ने किया बड़े नेताओं को आमंत्रित
गौरतलब है कि शिवसेना की ओर से कहा जा रहा था कि तीनों दलों के बड़े नेताओं को शपथ ग्रहण में बुलाया जाएगा हालांकि अब तक राहुल के महाराष्ट्र जाने का कोई कार्यक्रम नहीं आया है. वहीं दूसरी ओर खबर है कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia gandhi) को शपथ ग्रहण में न्योता देने के लिए खुद शरद पवार (Sharad Pawar) जाएंगे.

शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे 28 नवंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. खबर है कि वह 28 नवंबर को शाम 6:30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. ठाकरे राज्य के शीर्ष राजनीतिक पद पर पहुंचने वाले अपने परिवार के पहले सदस्य होंगे.



सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पलटा पासा
इससे पहले मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश के बाद महाराष्ट्र में सियासी खेल एकदम से पलट गया था. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) को निर्देश दिया कि वह बुधवार को शाम 5 बजे तक विधानसभा में अपना बहुमत साबित करें.

कोर्ट ने कहा था कि बहुमत परीक्षण में देर होने से ‘खरीद फरोख्त’ की आशंका है. वहीं बहुमत साबित करने को लेकर विधायकों को एकजुट करने की कोशिशों के बीच अजित पवार के उप-मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद देवेंद्र फडणवीस ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा की घोषणा कर दी. फडणवीस ने कहा कि अजित पवार (Ajit Pawar) के अपने पद से इस्तीफा देने के बाद उनके पास संख्या बल नहीं रह गया है.

यह भी पढ़ें:  महाराष्ट्र में भगत सिंह कोश्यारी की जगह कलराज मिश्र बन सकते हैं राज्यपाल

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 11:12 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...