तनिष्क विज्ञापन विवाद पर शशि थरूर बोले- जिन्हें हिंदू-मुस्लिम एकता परेशान करती है, वह भारत का बहिष्कार क्यों नहीं करते?

शशि थरूर ने  तनिष्क के विज्ञापन विवाद पर प्रतिक्रिया दी है.
शशि थरूर ने तनिष्क के विज्ञापन विवाद पर प्रतिक्रिया दी है.

तनिष्क ज्वैलरी (Tanishq Jwellery) द्वारा सोमवार को जारी किए गए एक विज्ञापन का सोशल मीडिया पर जमकर विरोध हुआ. जिसके बाद कंपनी ने यह विज्ञापन वापस ले लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 8:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi tharoor) ने तनिष्क ज्वैलरी (Tanishq Jwellery) के एक विज्ञापन पर हुए विवाद को लेकर प्रतिक्रिया दी है. ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क के विज्ञापन में, एक हिंदू महिला की मुस्लिम परिवार में शादी हुई है और उसकी गोद भराई होने वाली है. विज्ञापन में उनके ससुराल वालों को दिखाया जाता है कि वे अपनी हिंदू बहू के लिए हिंदू रीति रिवाजों को निभाते हुए काफी सहज हैं.

यह विज्ञापन इंटरनेट पर जारी होते ही सोशल मीडिया पर दक्षिणपंथी विचारधारा के लोगों ने इस पर सवाल खड़े कर दिए. इसके बाद ट्विटर पर बॉयकॉट तनिष्क  ट्रेंड करने लगा. इस विज्ञापन का विरोध करने वाले ज्वैलरी ब्रांड पर प्रतिबंध लगाना चाहते हैं.

थरूर ने कहा- भारत का बहिष्कार क्यों नहीं करते?
इस पूरे घटनाक्रम पर तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने कहा, 'तो हिंदुत्व के कट्टर लोगों ने तनिष्क ज्वैलरी का बहिष्कार करने का आह्वान किया है क्योंकि उन्होंने खूबसूरत विज्ञापन के जरिए हिंदू-मुस्लिम एकता को उजागर किया.' थरूर ने कहा- 'अगर हिंदू-मुस्लिम 'एकत्वम' (एकता) उन्हें बहुत परेशान करती है, तो वे दुनिया में सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाले हिंदू-मुस्लिम एकता के प्रतीक-भारत का बहिष्कार क्यों नहीं करते हैं?'






क्या था विज्ञापन का डिस्क्रिप्शन
#BoycottTanishq के जरिए लाखों की संख्या में ट्वीट्स किए गए. ट्वीट करने वालों ने आरोप लगाया कि विज्ञापन 'लव जिहाद ’को बढ़ावा देता है और हिंदू भावनाओं का विरोध करने वाला था. गौरतलब है कि 'लव जिहाद' या 'रोमियो जिहाद' एक कॉन्सपिरेसी थ्योरी है, जिसमें कहा जाता है कि मुस्लिम पुरुष, गैर-मुस्लिम समुदायों से जुड़ी महिलाओं को निशाना बनाते हैं ताकि उन्हें प्यार में उलझाकर और उनसे शादी करके उनका धर्म बदल दें.

तनिष्क के विज्ञापन में दिए गए डिस्क्रिप्शन में कहा गया था 'लड़की एक ऐसे परिवार में शादी करती है जो उसे अपने बच्चे की तरह प्यार करता है. केवल उसके लिए, वे अवसर (गोद भराई) को मनाने के लिए अलग रिवाज अपनाते हैं जो वे आमतौर पर नहीं करते. दो अलग-अलग धर्मों, परंपराओं, संस्कृतियों का एक सुंदर संगम.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज