लाइव टीवी

कांग्रेस नेता शिवकुमार आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने पेश हुए

भाषा
Updated: December 2, 2019, 11:33 PM IST
कांग्रेस नेता शिवकुमार आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने पेश हुए
कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की आयकर विभाग में पेशी.

कर्नाटक कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार (DK Shivkumar) सोमवार को आयकर विभाग (Income Tax Department) के अधिकारियों के सामने पेश हुए.

  • Share this:
बेंगलुरु. कांग्रेस नेता डी के शिवकुमार (Congress Leader DK Shivakumar) कथित कर चोरी मामले में सोमवार को आयकर विभाग (Income Tax Department) के अधिकारियों के सामने पेश हुए. उनके पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. शिवकुमार के छोटे भाई तथा सांसद डी के सुरेश ने बताया, 'हां, आयकर विभाग के अधिकारियों ने शिवकुमार को तलब किया. उन्होंने परिवार के अन्य सदस्यों और रिश्तेदारों को भी पूछताछ के लिये बुलाया है.'

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार शिवकुमार ने अधिकारियों के समक्ष उपस्थित होने से छूट मांगी थी क्योंकि उन्हें पांच दिसंबर को होने वाले कर्नाटक विधानसभा उपचुनावों के लिए प्रचार करना है. लेकिन अधिकारियों ने उन्हें छूट नहीं दी और उनके सामने पेश होने के लिये कहा.

अगले कुछ दिनों में उनके परिवार के अन्य सदस्य भी अधिकारियों के सामने पेश हो सकते हैं. कांग्रेस के संकटमोचक शिवकुमार को हाल ही में तिहाड़ जेल से रिहा किया गया था जहां वह प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दायर धनशोधन के मामले में बंद थे.

सुप्रीम कोर्ट ने शिवकुमार की जमानत खारिज करने की मांग पर की ईडी की खिंचाई

इससे पहले कर्नाटक के कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत रद्द करने की प्रवर्तन निदेशालय की याचिका खारिज कर दी थी. ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 23 अक्‍टूबर को दिल्‍ली हाईकोर्ट की ओर से शिवकुमार को जमानत देने के आदेश को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी. साथ ही कोर्ट ने साफ कर दिया कि शिवकुमार को कोई नोटिस जारी नहीं किया जा रहा है.

दूसरी याचिकाओं पर नोटिस जारी करने की मांग की
जस्टिस आरएफ नरीमन और एस. रविंद्र भट ने ईडी की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल के उस आग्रह को ठुकरा दिया, जिसमें उन्‍होंने डीके शिवकुमार को दूसरी याचिकाओं पर नोटिस जारी करने की मांग की थी. दिल्‍ली हाईकोर्ट ने 23 अक्‍टूबर को शिवकुमार को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जमानत दी थी. इससे पहले निचली अदालत ने शिवकुमार की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. ईडी का कहना था कि डीके शिवकुमार पर गंभीर आरोप हैं. ऐसे में उन्हें जमानत नहीं दी जानी चाहिए. बता दें कि कर्नाटक के पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के संकटमोचक माने जाने वाले डीके शिवकुमार पर हवाला के जरिये लेन-देने के आरोप हैं.ये भी पढ़ें: सरकार बचाने की लड़ाई में अकेले येडियुरप्पा, कांग्रेस-JDS खेल रही माइंड गेम

ये भी पढ़ें: मनीष पांडे ने दिखाया एमएस धोनी जैसा कलेजा, आखिरी 4 गेंद में पलट दिया मैच!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 11:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर