कृषि कानून का विरोध कर रही कांग्रेस खुद करती रही है खेती में FDI की मांग, VIDEO वायरल

राहुल गांधी. (PTI Photo/Vijay Verma)

Farm Laws: कांग्रेस के बड़े नेताओं के ऐसे वीडियो सामने आए हैं जिसमें कि वह एफडीआई (FDI) और किसानों को बिचौलियों से राहत देने की पैरवी करते दिख रहे हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केंद्र द्वारा पारित कृषि कानूनों (Farm Laws) को लेकर दिल्ली की सीमा पर किसानों का प्रदर्शन पिछले एक महीने से जारी है. किसानों के इस विरोध प्रदर्शन को विपक्ष का भी साथ मिल रहा है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इन कानूनों को वापस लेने के लिए 2 करोड़ के लोगों के हस्ताक्षर वाला ज्ञापन भी गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) को सौंपा. इसके अलावा 11 विपक्षी पार्टियों ने सरकार से इन कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की भी मांग की है. ऐसे में कांग्रेस के बड़े नेताओं के ऐसे वीडियो सामने आए हैं जिसमें कि वह एफडीआई (FDI) और किसानों को बिचौलियों से राहत देने की पैरवी करते दिख रहे हैं.

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का वीडियो बीजेपी नेता प्रीति गांधी ने ट्विटर पर शेयर किया है. हालांकि हम इन वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करते हैं. ये वीडियो उस समय का है जब राहुल कांग्रेस के उपाध्यक्ष थे. इस वीडियो में राहुल गांधी कृषि में एफडीआई का समर्थन करते दिख रहे हैं. राहुल गांधी इसमें कह रहे हैं कि "भारत में 60 प्रतिशत सब्जी सड़ जाती है, हमने मांग की है कि एफडीआई लाएं ताकि किसान अपना आलू खुद बेच सकें लेकिन संसद में उस बिल को रोक दिया गया."



    वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी एक वीडियो में बिचौलियों से किसानों को राहत देने की बात कर रही हैं. वीडियो में वह कह रही हैं "किसान की पैदावार सस्ते दामों पर खरीदी जाती है लेकिन शहरों में उसे मंहगा बेचा जाता है क्या किसानों का हक नहीं है कि उन्हें उनकी पैदावार सही दामों पर बिके और शहर के आम आदमी को सामान सही कीमतों पर मिले. ये तभी संभव है जब किसान बिना किसी बिचौलिए के अपनी पैदावार सीधे शहर तक पहुंचा सके."



    वहीं प्रधानमंत्री रहते हुए मनमोहन सिंह के भाषण का भी एक वीडियो सामने आया है जिसमे वह कह रहे हैं कि "खुदरा व्यापारियों को विदेशी निवेश की अनुमति देने के हमारी सरकार के फैसले पर काफी बहस हुई. मेरा, कम्युनिस्ट पार्टी और हमारी सरकार का मानना है कि ये फैसला हमारे देश के हित में है इससे आम जनता और किसानों दोनों को फायदा होगा. आज किसानों की फसल का बहुत बड़ा हिस्सा इसलिए बर्बाद हो जाता है क्योंकि ट्रांसपोर्ट और स्टोरेज की सुविधा नहीं होती. रीटेल व्यापार में एफडीआई के जरिए इस सुविधाओं को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है. किसान भाई बहन उनकी फसल केबेहतर दाम मिल सकेंगे क्योंकि वो फिर बाजारों तक पहुंच सकेंगे. आम जनता को सब्जी और फल सही दामों पर मिल पाएंगे."

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.