सोनिया गांधी ने दी जो बाइडन को अमेरिकी राष्ट्रपति बनने की शुभकामनाएं, कमला हैरिस को लिखा खास खत

सोनिया गांधी ने उप राष्ट्रपति निर्वाचित हुईं कमला हैरिस की भी सराहना की. (PTI)
सोनिया गांधी ने उप राष्ट्रपति निर्वाचित हुईं कमला हैरिस की भी सराहना की. (PTI)

US President election 2020: सोनिया गांधी ने उप राष्ट्रपति निर्वाचित हुईं कमला हैरिस की भी सराहना की और कहा कि यह “अश्वेत अमेरिकियों और भारतीय अमेरिकियों की जीत है.”

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 8:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने अमेरिकी चुनावों में जो बाइडेन (Joe Biden) और कमला हैरिस की जीत का स्वागत किया. पार्टी के कुछ नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि विदेश नीति में तटस्थ रहने का पालन नहीं करते हुए वह डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में खड़ी दिखाई दी.

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने शनिवार को रिपब्लिकन पार्टी के अपने प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप को कड़े मुकाबले में हरा दिया है. ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में ‘‘अब की बार ट्रंप सरकार’’ के नारे और क्या इस तरह की चीजें संबंधों को प्रभावित कर सकती है, के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के महासचिव अजय माकन ने केन्द्र सरकार पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि कांग्रेस का हमेशा से मानना रहा है कि देश, उसके नेताओं और राजनीतिक दलों को किसी अन्य देश की राजनीति में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए.

बीजेपी पर साधा निशाना
उन्होंने कहा, ‘‘हमने हमेशा इस बात पर विश्वास किया है और जब भी हम सरकार में थे, हमने कभी भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अन्य देशों की राजनीति में हस्तक्षेप नहीं किया क्योंकि हम इसे सही नहीं मानते हैं.’’
जब उनसे पूछा गया कि क्या उनकी पार्टी अमेरिकी चुनाव परिणामों को एक विचारधारा की जीत के रूप में देखती है तो माकन ने कहा, ‘‘हमारे नेताओं ने कभी यह संदेश देने की कोशिश नहीं की कि वहां (अमेरिका) चुनावों में एक उम्मीदवार दूसरे की तुलना में अधिक पसंद किया जाता है. कांग्रेस अध्यक्ष (सोनिया गांधी) और राहुल गांधी द्वारा बधाई संदेश किसी पार्टी नेता को नहीं, बल्कि निर्वाचित राष्ट्रपति को है, यह हमारी परंपरा है.’’



बाइडेन की जीत पर बीजेपी ने किया ये दावा
इस बीच भाजपा नेताओं ने रविवार को कहा कि भारत-अमेरिका के संबंध लोकतंत्र के सिद्धांतों पर आधारित हैं और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा बाइडेन संबंधों को अगले स्तर तक ले जाएंगे. भाजपा नेता राम माधव ने कहा, ‘‘अमेरिका और भारत के बीच मजबूत द्विपक्षीय संबंध लोकतंत्र, परस्पर लाभ और वैश्विक शांति के सिद्धांतों पर आधारित हैं. मुझे विश्वास है कि बाइडेन-कमला हैरिस के नये नेतृत्व में अमेरिका-भारत के संबंध प्रगति के पथ पर पहले की तरह मजबूती से आगे बढ़ेंगे.’’

माधव ने कहा कि मोदी और बाइडेन एक-दूसरे को ओबामा प्रशासन के समय से जानते हैं. उन्होंने कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उनकी पहली अमेरिकी यात्रा के दौरान न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर पर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के आयोजन में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने बाइडेन की जीत को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘राहुल गांधी जी ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को सलाह दी थी कि प्रधानमंत्री मोदी जी को अमेरिका की घरेलू राजनीति में शामिल होने से बचना चाहिए, जो अमेरिकी चुनाव के परिणामों से सही साबित हुई है.’’

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, ‘‘राष्ट्र एक व्यक्ति के समर्थन के बजाय संस्थागत तंत्र के माध्यम से संबंध बनाते हैं. परिणाम चाहे जो भी रहा हो लेकिन, 'अब की बार, ट्रंप सरकार' का नारा एक रणनीतिक गलती थी और रणनीतिक संबंधों के बारे में भाजपा की नासमझ का प्रमाण थी.’’

राहुल ने हाउडी मोदी कार्यक्रम पर किया प्रहार
राहुल गांधी ने पिछले साल ‘‘हाउडी मोदी’’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी के ‘‘अब की बार, ट्रंप सरकार’’ नारे को लेकर निशाना साधा था. इससे पूर्व दिन में अमेरिका के राष्ट्रपति निर्वाचित हुए जो बाइडेन को कांग्रेस ने रविवार को बधाई दी और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि प्रचार अभियान के दौरान बाइडेन द्वारा दिए गए भाषण में लोगों के बीच विभाजन को भरने पर जोर दिया जाना बेहतर भविष्य के प्रति आश्वस्त करता है.

सोनिया गांधी ने उप राष्ट्रपति निर्वाचित हुईं कमला हैरिस की भी सराहना की और कहा कि यह “अश्वेत अमेरिकियों और भारतीय अमेरिकियों की जीत है.” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वह जानती हैं कि हैरिस “बंटे हुए राष्ट्र” को एक करने के लिए काम करेंगी. सोनिया ने बाइडेन और हैरिस को लिखे पत्रों में उन्हें शुभकामनाएं दी.

बाइडेन को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि पिछले 12 महीनों के दौरान दुनिया के लाखों लोगों की तरह भारत के लोगों ने भी अमेरिकी चुनाव प्रक्रिया को गौर से देखा.

उन्होंने कहा, “हम आपके भाषण, लोगों के बीच विभाजन को भरने पर जोर देने और लैंगिक तथा नस्लीय समानता और वैश्विक सहयोग तथा देशों के सतत विकास को प्रोत्साहित करने पर बल देने से भविष्य के प्रति आश्वस्त हुए हैं.”

हैरिस को लिखे पत्र में सोनिया ने कहा कि उनकी जीत अमेरिकी संविधान में निहित मूल्यों- लोकतंत्र, सामाजिक न्याय और लैंगिक तथा नस्लीय समानता की जीत है. उन्होंने कहा, “यह अश्वेत अमेरिकियों और भारतीय अमेरिकियों की जीत है. यह मानवता, सहृदयता और समावेश की जीत है जिनके लिए आपने सार्वजनिक और राजनीतिक जीवन में संघर्ष किया.” कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने भी बाइडेन और हैरिस को बधाई दी है. (इनपुटः भाषा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज