महाराष्ट्र सरकार में कांग्रेसी मंत्री का सोनिया गांधी को समर्थन, बोले-माफी मांगें ये 3 नेता

महाराष्ट्र सरकार में कांग्रेसी मंत्री का सोनिया गांधी को समर्थन, बोले-माफी मांगें ये 3 नेता
महाराष्ट्र सरकार में मंत्री ने सोनिया गांधी का समर्थन किया है.

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) में कांग्रेसी कोटे से मंत्री सुनील केदार (Sunil Kedar) ने ट्वीट कर तीन पार्टी नेताओं पर निशाना साधा है. उन्होंने अपने ट्वीट में पृथ्वीराज चह्वाण, मिलिंद देवड़ा और मुकुल वासनिक का जिक्र कर तुरंत माफी की मांग की है. केदार ने सोनिया गांधी के नेतृत्व को पूरा समर्थन देने की बात कही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 12:23 AM IST
  • Share this:
मुंबई. कांग्रेस ने नेतृत्व परिवर्तन (Congress Leadership Crisis) को लेकर कुछ वरिष्ठ पार्टी नेताओं द्वारा सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखे गए खत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. अब महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) में कांग्रेसी कोटे से मंत्री सुनील केदार (Sunil Kedar) ने ट्वीट कर तीन पार्टी नेताओं पर निशाना साधा है. उन्होंने अपने ट्वीट में पृथ्वीराज चह्वाण, मिलिंद देवड़ा और मुकुल वासनिक का जिक्र कर तुरंत माफी की मांग की है. केदार ने सोनिया गांधी के नेतृत्व को पूरा समर्थन देने की बात कही है.

सुनील केदार ने किया ट्वीट
सुनील केदार ने ट्वीट किया है-मैं पूरे दिल से अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी का समर्थन करता हूं. ये शर्मनाक है कि मुकुल वासनिक, पृथ्वीराज चह्वाण और मिलिंद देवड़ा ने गांधी परिवार के नेतृत्व पर सवाल खड़े किए हैं. इन नेताओं को तुरंत अपने कृत्य के लिए माफी मांगनी चाहिए. वरना कांग्रेस के कार्यकर्ता देख लेंगे कि ये नेता राज्य में स्वतंत्र होकर कैसे घूमते हैं. बीजेपी सरकार को कांग्रेस तभी टक्कर दे सकती है जब पार्टी का नेतृत्व गांधी परिवार के हाथों में हो. ये महत्वपूर्ण वक्त है जब सोनिया गांधी के नेतृत्व के साथ खड़ा होना चाहिए.

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने किया केदार का समर्थन
कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता ने सुनील केदार के स्टेटमेंट का समर्थन किया है. हालांकि उनका कहना है कि केदार की भाषा काफी ज्यादा तल्ख थी. उन्होंने कहा है कि केदार ने जो कुछ कहा है कि वो पार्टी के हर कार्यकर्ता की भावना है.



नेतृत्व परिवर्तन को लेकर लिखे खत पर मचा बवाल
गौरतलब है कि कांग्रेस में कई वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी को पार्टी संगठन में परिवर्तन को लेकर खत लिखा है. इस खत को लेकर काफी बवाल मच गया है. सोमवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के दौरान राहुल गांधी ने कथित तौर पर उन नेताओं को निशाने पर लिया जिन्होंने ये खत लिखा है. हालांकि गुलाम नबी आजाद ने बाद में साफ किया कि राहुल गांधी ने ऐसा कोई आरोप नहीं लगाया है.

(विनय देशपांडे की स्टोरी से इनपुट्स के साथ. यहां क्लिक कर पूरी स्टोरी पढ़ी जा सकती है)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज