Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    कपिल सिब्बल बोले- कांग्रेस को अब विकल्प भी नहीं मानते लोग, हमें आत्मनिरीक्षण की जरूरत

    कांग्रेस के सीनियर नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने बिहार विधानसभा चुनाव और हाल में हुए चुनावों में कांग्रेस (Congress) के प्रदर्शन पर बात की है.
    कांग्रेस के सीनियर नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने बिहार विधानसभा चुनाव और हाल में हुए चुनावों में कांग्रेस (Congress) के प्रदर्शन पर बात की है.

    कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने 'इंडियन एक्सप्रेस' से खास बातचीत में ये बयान दिया. सिब्बल ने कहा, 'देश के लोग न केवल बिहार( Bihar Election 2020) में, बल्कि जहां भी उपचुनाव हुए, जाहिर तौर पर कांग्रेस (Congress) को एक प्रभावी विकल्प नहीं मानते. यह एक निष्कर्ष है. आखिर बिहार में एनडीए का विकल्प आरजेडी ही थी.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 16, 2020, 3:11 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. बिहार का चुनाव खत्म होने के बाद भी सियासी पारा अभी हाई है. एनडीए से मिली हार के बाद महागठबंधन (Mahagahthbandhan) के सहयोगी दलों में फूट पड़ती दिखने लगी है. पहले आरजेडी के सीनियर नेता शिवानंद तिवारी ने कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की कार्यशैली की वजह से बीजेपी को मदद मिल रही है. अब कांग्रेस के सीनियर नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने बिहार विधानसभा चुनाव और हाल में हुए चुनावों में कांग्रेस (Congress) के प्रदर्शन पर बात की है. सिब्बल ने कहा कि बिहार में जाहिर तौर पर एनडीए के बाद आरजेडी दूसरे नंबर की पार्टी थी. कांग्रेस का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता, लेकिन पार्टी नेतृत्व का मानना है कि चुनाव में हार से पार्टी का काम नहीं रुकना चाहिए. मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस बिहार में मिली हार पर आत्मनिरीक्षण करेगी.

    कपिल सिब्बल ने 'इंडियन एक्सप्रेस' से खास बातचीत में ये बयान दिया. कपिल सिब्बल ने कहा, 'देश के लोग न केवल बिहार में, बल्कि जहां भी उपचुनाव हुए, जाहिर तौर पर कांग्रेस को एक प्रभावी विकल्प नहीं मानते. यह एक निष्कर्ष है. आखिर बिहार में एनडीए का विकल्प आरजेडी ही थी. हम गुजरात में सभी उपचुनाव हार गए. लोकसभा चुनाव में भी हमने वहां एक भी सीट नहीं जीती थी. उत्तर प्रदेश के कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में हुए उपचुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवारों ने 2% से भी कम वोट हासिल किए. गुजरात में हमारे तीन उम्मीदवारों ने अपनी जमानत खो दी. हालांकि, मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस इन सबकों लेकर आत्मनिरीक्षण करेगी.'

    कांग्रेस ने अब तक आत्मनिरीक्षण क्यों नहीं किया?

    आगे पढ़ें
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज