खुशबू सुंदर ने कांग्रेस को बताया मानसिक रूप से कमजोर, कहा- इसे बुद्धिमान महिला की जरूरत नहीं

खुशबू सुंदर ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी ज्वॉइन की है.
खुशबू सुंदर ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी ज्वॉइन की है.

खुशबू सुंदर (Khushbu Sundar) ने मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष केएस अलागिरी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'मैं कांग्रेस (Congress) में 6 साल तक रही और पार्टी के लिए लगातार काम किया. अब मैंने पार्टी छोड़ दी है, मैं समझ सकती हूं कि मैं एक मानसिक रूप से कमजोर पार्टी को छोड़कर काफी खुश हूं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 8:01 AM IST
  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव (Tamil Nadu Assembly Elections 2021) से पहले फिल्म एक्ट्रेस खुशबू सुंदर (Khushbu Sundar) ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी ज्वॉइन कर ली है. मंगलवार को जब वो चेन्नई वापस पहुंचीं, तो अपनी पुरानी पार्टी पर जमकर निशाना साधा. खुशबू ने कांग्रेस (Congress) को दिमागी रूप से कमजोर पार्टी बता दिया. खुशबू ने कहा कि कांग्रेस मानसिक तौर पर कमजोर है. उसे एक समझदार महिला की जरूरत नहीं थी. वहीं, कांग्रेस ने कहा कि खुशबू सुंदर के जाने से तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

बीजेपी में शामिल होने के बाद खुशबू मंगलवार को चेन्नई पहुंचीं, यहां एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया. मीडिया से बात करते हुए खुशबू सुंदर ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष केएस अलागिरी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'मैं कांग्रेस में 6 साल तक रही और पार्टी के लिए लगातार काम किया. अब मैंने पार्टी छोड़ दी है, मैं समझ सकती हूं कि मैं एक मानसिक रूप से कमजोर पार्टी को छोड़कर काफी खुश हूं.'


खुशबू ने कहा, ‘मैं कांग्रेस के प्रति वफादार थी लेकिन कांग्रेस ने मेरा अनादर किया. कांग्रेस में किसी बुद्धिमान महिला की जगह नहीं है. यह कहना कि वे मुझे केवल एक एक्‍ट्रेस के रूप में देखते हैं, कांग्रेस की ओछी मानसिकता को दर्शाता है. इस पार्टी में सच बोलने की आजादी नहीं है, आखिरकार किस तरह अच्‍छी हो सकती है. पार्टी छोड़ने के बाद, मैं समझ सकती हूं कि मैं मानसिक रूप से विक्षिप्त हो चुकी हूं.'



खुशबू सुंदर ने सोनिया गांधी को शिकायती चिट्ठी लिखकर छोड़ी कांग्रेस, ज्वाइन की बीजेपी
केएस अलागिरी के इस बयान पर किया पलटवार
दरअसल, ये बात उन्होंने कांग्रेसी नेता केएस अलागिरी के बयान का जवाब देते हुए कहा. अलागिरी ने कहा था, 'खुशबू सुंदर के पार्टी छोड़ने से पार्टी को कोई नुकसान नहीं होने वाला है. बीजेपी से किसी ने भी उन्हें पार्टी में नहीं बुलाया. वह अपने हिसाब से इसमें शामिल हो रही हैं. कांग्रेस ने खुशबू सुंदर को पार्टी में शामिल किया, जबकि उन्होंने पार्टी लाइनों के अनुसार काम नहीं किया.'

एक्टिविस्ट ने जताई आपत्ति
उधर, खुशबू के इस बयान पर विवाद भी हो गया है. दिव्यांगों के लिए काम करने वाले एक्टिविस्ट दीपक नाथन ने इस बयान पर आपत्ति जाहिर की है. उन्होंने कहा है कि इस तरह किसी बीमारी की किसी पार्टी से तुलना करना गलत है, दिव्यांगता शरीर का एक हिस्सा है ऐसे में इसकी तुलना किसी से नहीं की जानी चाहिए.

भाजपा में शामिल होने के बाद बोलीं खुशबू सुंदर- कांग्रेस बदल गई है, पार्टी को आत्म निरीक्षण की जरूरत

2010 में राजनीति में आईं खुशबू सुंदर
बता दें कि खुशबू सुंदर की पहचान साउथ की एक मशहूर एक्ट्रेस और प्रोड्यूसर के तौर पर है. उन्होंने 200 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है. खुशबू सुंदर टीवी प्रजेंटर भी रही हैं. एक्टिंग में ऊंचा मुकाम हासिल करने के बाद 2010 में उन्होंने राजनीति में कदम रखा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज