Home /News /nation /

congress mla bizzare gesture towards caste discrimination feed dalit sant then eats the same chewed food

अनोखी मिसाल! कांग्रेस MLA ने दलित संत को खाना खिलाया, फिर मुंह से निकलवाकर खुद खाया

चामराजपेट से कांग्रेस विधायक जमीर खान ने जातिगत भेदभाव के खिलाफ अनोखे तरीके संदेश दिया.

चामराजपेट से कांग्रेस विधायक जमीर खान ने जातिगत भेदभाव के खिलाफ अनोखे तरीके संदेश दिया.

Congress MLA video viral: चामराजपेट से कांग्रेस विधायक जमीर खान ने पहले एक दलित संत को अपने हाथ से खाना खिलाया, फिर संत से कहा कि वो चबाया हुआ खाना मुंह से निकालकर उन्हें खिलाए. विधायक के जोर देने पर संत ने सबके सामने मुंह से कौर निकालकर उन्हें खिला दिया. इसे देखकर आसपास के लोगों ने जोरदार तालियां बजाईं.

अधिक पढ़ें ...

बेंगलुरूः जातिगत भेदभाव के खिलाफ संदेश देने के लिए सामाजिक संस्थाएं अक्सर अभियान चलाती हैं. नेता दलितों के घर जाकर उनके साथ खाना खाकर भेदभाव मिटाने का मैसेज देते हैं. लेकिन बेंगलुरू में कांग्रेस के एक विधायक ने एक कदम आगे बढ़कर ऐसा काम कर दिया कि उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. चामराजपेट से कांग्रेस विधायक बीजे जमीर ए. खान ने सबके सामने पहले एक दलित संत को अपने हाथ से खाना खिलाया, फिर संत से कहा कि वो चबाया हुआ खाना मुंह से निकालकर उन्हें खिलाए. विधायक के जोर देने पर संत ने सबके सामने मुंह से कौर निकालकर उन्हें खिला दिया.

ये घटना बेंगलुरू में रविवार को हुई. कांग्रेस विधायक जमीर खान एक समारोह में शामिल हुए. समाचार एजेंसी एएनआई की ओर से जारी वीडियो में कांग्रेस विधायक लोगों की भीड़ के बीच माइक लेकर बोलते नजर आते हैं. इसके बाद उन्होंने अपने बराबर खड़े दलित समुदाय के संत स्वामी नारायण को सामने रखी प्लेट में से खाना खिलाया. संत ने जब विधायक को खाना खिलाना चाहा तो उन्होंने हाथ रोक लिया. इसके बाद उन्होंने नारायण से कहा कि वह उन्हें अपना झूठा खाना खिलाएं. स्वामी नारायण हिचकिचाते हैं, फिर विधायक के जोर देने पर अपने मुंह से खाना निकालकर विधायक के मुंह में डाल देते हैं.

विधायक के इस काम को देखकर आसपास के लोग जोरदार तालियां बजाते हैं. विधायक की जोश में आकर मेज पर जोर-जोर के हाथ मारते हैं. समाचार एजेंसी का ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. कुछ लोग जहां विधायक के इस कदम की तारीफ कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग इसे दिखावा बताते हुए तंज कस रहे हैं. कुछ लोग इसे कर्नाटक में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से जोड़कर देख रहे हैं.

ये पहली बार नहीं है, जब विधायक जमीर अहमद खान चर्चा में आए हैं. इसी साल फरवरी में उन्होंने हिजाब को लेकर एक विवादित बयान दिया था. उन्होंने रेप के बढ़ते केसों के लिए हिजाब न पहनने को जिम्मेदार ठहरा दिया था. एएनआई के मुताबिक, जमीर अहमद ने तब कहा था कि लड़कियां जब बड़ी हो जाती हैं, तो उन्हें अपनी सुंदरता को छिपाने के लिए अपने चेहरे को घूंघट से ढक लेना चाहिए. मुझे लगता है कि दुनिया में सबसे ज्यादा रेप के मामले भारत में हैं. क्या कारण है? इसका कारण यह है कि वे (लड़कियां) अपना चेहरा नहीं ढकती हैं. हिजाब पहनना अनिवार्य नहीं है. लेकिन यह परंपरा वर्षों से चली आ रही है.

Tags: Caste politics, Congress party, Dalit

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर