राहुल गांधी ने बुद्ध पूर्णिमा पर बधाई के बहाने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा- तीन चीजें देर तक छिप नहीं सकतीं

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरु पूर्णिमा की दी बधाई. (फाइल फोटो)

कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) लद्दाख (Ladakh) के मुद्दे पर लगातार केंद्र सरकार से सवाल कर रहे हैं कि आखिर लद्दाख में भारत और चीन के सेना के बीच उस दिन क्या हुआ था.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan valley) में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) केंद्र सरकार पर हमलावर हैं. राहुल गांधी हर दिन चीन में मोदी सरकार के स्टैंड को लेकर सवाल उठा रहे हैं. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज गुरु पूर्णिमा (Guru Purnimai) पर अपने बधाई संदेश के साथ ही केंद्र सरकार पर भी तंज कसा है. उन्होंने अपने ट्वीट में गौतम बुद्ध का एक कथन साझा किया है. इसमें राहुल ने लिखा है तीन चीजें जो देर तक छिप नहीं सकतीं- सूर्य, चंद्रमा और सत्य.'

    कांग्रेस भले ही चीन के साथ चल रहे विवाद पर केंद्र सरकार के साथ खड़े होने की बात कर रही हो लेकिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार लद्दाख के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर हमला कर रहे हैं. वह सरकार से लगातार मांग कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को बताएं कि आखिर लद्दाख के गलवान घाटी में क्या हुआ था. उन्होंने सरकार से सवाल किया है कि क्या भारतीय जमीन पर चीन ने कब्जा कर लिया है? बता दें कि राहुल गांधी ने लद्दाख के कुछ लोगों का वीडियो भी शेयर किया था, जिसमें लोग चीनी घुसपैठ का दावा कर रहे हैं.



    गौरतलब है कि चीन के साथ तनातनी को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप के बीच राकांपा प्रमुख शरद पवार ने राहुल गांधी को इशारों में कहा था कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह कोई नहीं भूल सकता कि चीन ने 1962 के युद्ध के बाद भारत की 45,000 वर्ग किलोमीटर भूमि पर कब्जा कर लिया था. वहीं महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता और पूर्व मंत्री मिलिंद देवड़ा ने भी कांग्रेस को नसीहत दी है. मिलिंद देवड़ा ने पार्टी लाइन से हटकर बयान देते हुए कहा है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि चीनी हिमाकत में बढ़ोतरी का मामला देश में राजनीतिक कीचड़ उछालने से खराब हो गया.

    इसे भी पढ़ें :- भारत-चीन विवाद: राहुल गांधी बोले- बीजेपी कहती है Make In India, लेकिन करती है Buy Form China

    नियंत्रण रेखा पर विवाद के मद्देनजर बातचीत जारी
    बता दें पूर्वी लद्दाख में कई जगहों पर पिछले सात सप्ताह से भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं. 15 जून को गलवान घाटी में हुए संघर्ष में 20 भारतीय जवानों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया है. दूसरे दौर की वार्ता में 22 जून को दोनों पक्षों के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव वाले स्थानों पर ‘पीछे हटने’ के लिए ‘परस्पर सहमति’ बनी थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.