कांग्रेस MP ने संसद में उठाया चिटफंड स्कैम का मुद्दा, ममता बोलीं- 'याद रखूंगी'

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को संसद में शारदा चिटफंड स्कैम का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इस स्कीम के तहत हजारों लोगों को लूटा गया और ममता बनर्जी भी इसमें अवैध रूप से शामिल थीं.

फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: February 14, 2019, 1:01 PM IST
कांग्रेस MP ने संसद में उठाया चिटफंड स्कैम का मुद्दा, ममता बोलीं- 'याद रखूंगी'
ममता बनर्जी फाइल फोटो
फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: February 14, 2019, 1:01 PM IST
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लेकर कांग्रेस का रुख दो धड़ों में बंटा हुआ है. दिल्ली से राहुल गांधी तो उनको समर्थन देते हैं, लेकिन राज्य की कांग्रेस यूनिट ममता के विरोध में है. शारदा चिटफंड स्कैम में भी कांग्रेस का रुख बदला-बदला सा है.

इसी स्कैम के की वजह से ममता बनर्जी फिर एक बार कांग्रेस पर भड़की नजर आ रही हैं. दरअसल, कांग्रेस के एक सांसद ने शारदा चिटफंड स्कैम का मुद्दा संसद में उठाकर ममता पर हमला बोला और आरोप लगाए, जिस पर ममता नाराज हो गई हैं. उन्होंने कांग्रेस को यह धमकी भी दे दी है कि वह इसे याद रखेंगी.

इसे भी पढ़ें :- शारदा चिटफंड घोटाला: यूपी के तीन सीबीआई अफसर करेंगे मामले की जांच


न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को संसद में शारदा चिटफंड स्कैम का मुद्दा उठाया. यह मुद्दा ऐसे अवैध स्कीम्स और चिटफंड्स को रोकने के लिए लाए जाने वाले एक बिल पर बहस करने के दौरान उठाया गया. बहस के दौरान चौधरी ने सीधे-सीधे ममता बनर्जी पर आरोप लगाए और कहा कि इस स्कीम के तहत हजारों लोगों को लूटा गया और ममता बनर्जी भी इसमें अवैध रूप से शामिल थीं.



इस पर ममता भड़क गईं. उन्होंने यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी से यह तक कह दिया कि वह इसे याद रखेंगी. सोनिया ने उन्हें बहुत मनाने की कोशिश की, लेकिन ममता नहीं मानीं. सोनिया ने कहा कि यहां सब एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं लेकिन सब एक दूसरे के मित्र हैं.

शारदा चिटफंड स्कैम में राहुल गांधी ने अपना स्टैंड बदल लिया है. 2016 में तो वह इसके मुखर विरोधी थे लेकिन 2019 में गठबंधन की तस्वीर तैयार करने के लिए राहुल अब मोदी सरकार पर ममता को फंसाने का आरोप लगा रहे हैं. लेकिन इधर अधीर रंजन चौधरी की अधीरता से ममता नाराज हो गई हैं.
Loading...

कई लोगों का मानना है कि चौधरी को पार्टी के आलाकमान की ओर से पिछले साल ही साइडलाइन कर दिया गया था, जिसकी वजह से उन्हें पार्टी के रुख से फर्क नहीं पड़ा और वो ममता पर हमला कर बैठे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर